BJP का पलटवार, कांग्रेस ने हमेशा महात्मा गांधी की तस्वीर पर राजनीति की

भारतीय जनता पार्टी ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी पर पलटवार किया है. बीजेपी के प्रवक्ता नलिन कोहली ने कहा कि तस्वीरों के आधार पर काम करने वाली कांग्रेस आदर्शों और विचार पर काम नहीं कर सकती. नरसिम्हा राव जैसे पीएम को भी कांग्रेस स्वीकार नहीं करती. राष्ट्रीय प्रतीक को स्वीकार करना तो भूल जाएं.

बीजेपी के प्रवक्ता नलिन कोहली (फोटो-ट्विटर)
हिमांशु मिश्रा
  • नई दिल्ली,
  • 02 अक्टूबर 2019,
  • अपडेटेड 3:20 PM IST

  • बीजेपी का पलटवार-आदर्शों और विचार पर काम नहीं कर सकती कांग्रेस
  • आज RSS को देश का प्रतीक बनाना चाहते हैं, ये संभव नहींः सोनिया गांधी

गांधी जयंती पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के एक बयान पर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने जमकर पलटवार किया है. बीजेपी के प्रवक्ता नलिन कोहली ने कहा कि तस्वीरों के आधार पर काम करने वाली कांग्रेस आदर्शों और विचार पर काम नहीं कर सकती. नरसिम्हा राव जैसे पीएम को भी कांग्रेस स्वीकार नहीं करती और वह राष्ट्रीय प्रतीक को स्वीकार करना तो भूल जाएं.

कांग्रेस ने की तस्वीर पर राजनीतिः बीजेपी

नलिन कोहली ने कहा कि कांग्रेस ने जीवनभर महात्मा गांधी की तस्वीर पर राजनीति की है. हमने हमेशा विचारों की राजनीति की है. जबकि पीएम नरेंद्र मोदी ने स्वच्छता से लेकर स्वास्थ्य को लेकर देश की जनता के काम किया. बीजेपी ने हमेशा राष्ट्रवाद की राजनीति की है.

उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने हमेशा महात्मा गांधी के नाम का इस्तेमाल किया है. कांग्रेस ने हर सरकारी योजना को राजीव गांधी, इंदिरा गांधी और जवाहर लाल नेहरू के नाम पर शुरू किया. हम पर आरोप लगाने से पहले कांग्रेस अपनी गिरेबान में झांककर देखे. कांग्रेस को गांधी परिवार के बाहर कभी भी कुछ दिखाई नहीं देता है.

गांधी जयंती के अवसर पर दिल्ली में आयोजित कांग्रेस की पदयात्रा के समापन पर भाषण देते हुए पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा कि कुछ लोग आज आरएसएस को देश का प्रतीक बनाना चाहते हैं, लेकिन ये संभव नहीं है. हमारे देश की नींव में गांधी के विचार है.

गांधी के सिद्धांतों पर सिर्फ कांग्रेस चलीः सोनिया

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी की टिप्पणी पर बीजेपी ने पलटवार करने में कोई देरी नहीं की. पार्टी की ओर से प्रवक्ता नलिन कोहली ने कहा कि कांग्रेस ने हमेशा तस्वीरों के आधार पर काम किया है. उसने कभी भी आदर्शों और विचार पर काम नहीं किया. कांग्रेस ने अब तक पीवी नरसिम्हा राव को प्रधानमंत्री तक नहीं मानने वाली राष्ट्रीय प्रतीक की बात करना भूल जाए.

सोनिया गांधी ने कहा कि आज महिलाएं सुरक्षित नहीं है, जो लोग सत्ता में हैं वो कहीं भी अपराध कर रहे हैं. गांधीजी घृणा की जगह प्यार को तवज्जो देते थे. वह लोकतंत्र के समर्थक थे न कि तानाशाही के. सिर्फ कांग्रेस ने गांधीजी के विचारों को आत्मसात किया और आगे भी यही जारी रहेगा.

Read more!

RECOMMENDED