भूख हड़ताल के कारण अन्ना का वजन गिरा, 3 किलो तक कम हुआ

अन्ना हजारे ने शुक्रवार को रामलीला मैदान में अपने कई मांगों को लेकर अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल शुरू किया था. उनके एक सहयोगी ने बताया कि अन्ना का रक्तचाप सामान्य है.

अन्ना हजारे (फाइल फोटो)
aajtak.in
  • नई दिल्ली,
  • 26 मार्च 2018,
  • अपडेटेड 11:38 AM IST

बुजुर्ग सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे का वजन दिल्ली में जारी अनिश्चितकालीन अनशन के कारण अब तक 3 किलो तक घट गया है.

उन्होंने शुक्रवार को रामलीला मैदान में अपने कई मांगों को लेकर अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल शुरू किया था. उनके एक सहयोगी ने बताया कि उनके वजन में गिरावट आई है, हालांकि उनका रक्तचाप सामान्य है.

अन्ना हजारे केंद्र और राज्यों में लोकायुक्त नियुक्त करने की मांग कर रहे है. 2011 में उनके ही आंदोलन के कारण लोकपाल एवं लोकायुक्त अधिनियम, 2013 में बनकर तैयार हुआ था, लेकिन केंद्र ने अभी तक लोकपाल की नियुक्ति नहीं की है.

लोकायुक्त नियुक्त करने की मांग के अलावा हजारे इस बार सरकार से किसानों के लिए बेहतर न्यूनतम समर्थन मूल्य की भी मांग कर रहे हैं. उनकी मांग है कि किसानों के कृषि उपज की लागत के आधार पर डेढ़ गुना ज्‍यादा दाम मिले.

उनकी मांगों में खेती पर निर्भर 60 साल से ऊपर उम्र वाले किसानों को प्रतिमाह 5 हजार रुपए पेंशन दिए जाना भी शामिल है. वहीं वह अपने आंदोलन में कृषि मूल्य आयोग को संवैधानिक दर्जा तथा सम्पूर्ण स्वायत्तता दिए जाने और चुनाव सुधार के लिए सही निर्णय लिए जाने की बात कर रहे हैं.

Read more!

RECOMMENDED