PAN से भर सकेंगे रिटर्न, पर आधार लिंकिंग से जुड़ी ये अहम बातें

सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को अपने फैसले में IT रिटर्न भरने के लिए आधार के अनिवार्यता पर फैसला दिया है. कोर्ट ने कहा की अगर किसी व्यक्ति के पास सिर्फ पैन कार्ड है तो उनका पैन कार्ड को मान्य माना जाएगा.

आधार कार्ड
राहुल मिश्र
  • नई दिल्ली,
  • 09 जून 2017,
  • अपडेटेड 7:20 PM IST

सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को अपने फैसले में IT रिटर्न भरने के लिए आधार के अनिवार्यता पर फैसला दिया है. कोर्ट ने कहा की अगर किसी व्यक्ति के पास सिर्फ पैन कार्ड है तो उनका पैन कार्ड को मान्य माना जाएगा. कोर्ट ने यह भी साफ किया है कि अगर किसी व्यक्ति के पास आधार और पैन दोनों है, तो उनको रिटर्न भरते समय यह बताना होगा. सरकार आधार कार्ड पर जोर देते आई है. पढ़िए आधार से जुड़ी यह अहम बातें.आधार लिंकिंग से जुड़ी अहम बातें: 1. मौजूदा समय में देश में 24.37 करोड़ से अधिक पैनकार्ड हैं और 113 करोड़ से ज्यादा लोगों का आधार कार्ड बनाया जा चुका है. इनमें से महज 2.87 करोड़ लोगों ने 2012-13 के दौरान टैक्स रिटर्न जमा किया था. इन 2.87 करोड़ लोगों में 1.62 करोड़ लोगों ने टैक्स रिटर्न दाखिल तो किया लेकिन टैक्स में एक भी रुपये का भुगतान नहीं किया.2. आपका आधार नंबर और बैंक अकाउंट आपस में जुड़े होने के कारण आधार बनाने वाली संस्था यूनीक आईडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया (UIDAI) के लिए इसके आंकड़ों को सुरक्षित रखना बेहद चुनौती भरा काम है. यह आंकड़ा अगर चोरी हुआ या ऑनलाइन हैकिंग का शिकार बना तो कुछ ही मिनटों में आधार से जुड़े हजारों बैंक खातों से बड़ी रकम को इधर से उधर कर सकते हैं.3. बड़ी संख्या में लोग टैक्स चोरी कर ले जाते हैं या टैक्स देने से बच जाते हैं. लिहाजा, देश में टैक्स कलेक्शन को बढ़ाने के लिए इनकम टैक्स विभाग ने रिटर्न दाखिल करने के लिए आधार से लिंकिंग को अनिवार्य कर दिया है. इस लिंकिंग के बाद टैक्स चोरी को रोकना आसान हो जाएगा.4. सरकार ने एलपीजी सब्सिडी के लिए आधार कार्ड अनिवार्य कर दिया था.5. आधार से जुड़ा कानून केंद्र सरकार को ये अधिकार दे चुका है कि वह इसे सरकारी योजनाओं में इस्तेमाल कर सकती है. सरकारी योजनाओं से जुड़ी एजेंसियों की ये जिम्मेदारी है कि कोई भी व्यक्ति इसलिए लाभ से वंचित न रह जाए, क्योंकि उसके पास आधार कार्ड नहीं है. उदाहरण के लिए गैस से जुड़ी योजनाओं के लिए तेल मंत्रालय और स्कॉलरशिप से जुड़ी योजनाओं के लिए एमएचआरडी की जिम्मेदारी है कि जिनके पास आधार कार्ड नहीं है, उनका यूआईडी में रजिस्ट्रेशन कराया जाए.6. इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने करदाताओं को एसएमएस सुविधा का उपयोग कर आधार संख्या को पैन नंबर से लिंक करने को कहा था. इनकम टैक्स विभाग ने एसएमएस के माध्यम से आधार और पैन को आपस में लिंक कर रखा है. इसके लिए किसी व्यक्ति को अपने फोन से बड़े अक्षरों में यूआईडीपीएएन के बाद खाली जगह छोड़कर अपनी आधार संख्या और फिर उसके बाद अपनी पैन संख्या (UIDPN -space- Aadhar no. Pan no.) को लिखकर 567678 या 56161 को एसएमएस भेजना होता है.

Read more!

RECOMMENDED