अशोक गहलोत ने की नंदी गोशाला की शुरुआत, बोले- जिसके दिल में दया नहीं वह गो भक्त नहीं

भारतीय जनता पार्टी पर निशाना साधते हुए अशोक गहलोत ने कहा कि जो लोग गाय के नाम पर राजनीति करते हैं, उन्हें पंचायत स्तर पर खोले जा रहे नंदी गोशाला में आकर गो सेवा करनी चाहिए. मॉब लिंचिंग को लेकर गहलोत ने कहा कि जिसके दिल में दया भाव नहीं है वह गाय का भक्त नहीं हो सकता.

सीएम गहलोत ने की नंदी गोशाला की शुरुआत
शरत कुमार/देव अंकुर
  • जयपुर,
  • 30 अगस्त 2019,
  • अपडेटेड 12:36 AM IST

  • अशोक गहलोत ने बाड़मेर से की नंदी गोशाला बनाने की शुरुआत
  • गोशाला खोलने के लिए राजस्थान सरकार ने रखा 30 करोड़ का बजट
  • गाय के नाम पर किसी व्यक्ति की हत्या बर्दाश्त नहीं की जाएगी

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने गुरुवार को गो सेवा अभियान शुरू कर दिया है. पंचायत स्तर तक गायों के लिए नंदी गोशाला बनाने की शुरुआत अशोक गहलोत ने बाड़मेर से की. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि गाय हमारे लिए पूजनीय है और गायों की भक्ति हमारे धर्म और समाज के लिए सर्वोपरि है.

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) पर निशाना साधते हुए अशोक गहलोत ने कहा कि जो लोग गाय के नाम पर राजनीति करते हैं, उन्हें पंचायत स्तर पर खोले जा रहे नंदी गोशाला में आकर गो सेवा करनी चाहिए. मॉब लिंचिंग को लेकर गहलोत ने कहा कि जिसके दिल में दया भाव नहीं है, वह गाय का भक्त नहीं हो सकता. मुख्यमंत्री ने कहा कि मॉब लिंचिंग के खिलाफ हमने कठोर कानून बनाया है. गाय के नाम पर किसी व्यक्ति की हत्या बर्दाश्त नहीं की जाएगी.

अशोक गहलोत ने कहा कि गायों के लिए सरकारी अनुदान देने की शुरुआत पहली बार कांग्रेस सरकार ने ही की थी. अभी भी हम गोशालाओं को अनुदान दे रहे हैं. इसके साथ ही हर पंचायत पर निराश्रित गायों के लिए गोशाला खोली जा रही हैं. इसके लिए राजस्थान सरकार ने 30 करोड़ का बजट रखा है. गाय पालने वालों के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि हम प्रति लीटर दूध पर 2 का अनुदान दे रहे हैं जिससे गायों की अच्छी देखभाल हो सके.

सीएम गहलोत ने कहा कि गोवंश की सेवा के लिए अनुदान के साथ ही पशुधन के लिए मुख्यमंत्री नि:शुल्क पशु दवा योजना लागू की. जो देश में जानवरों की सेवा के लिए किसी भी सरकार द्वारा लाई गई अनूठी योजना है, इस योजना को आगे भी जारी रखा जाएगा. वहीं इस मौके पर राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने गोशाला के लिए 50 बीघा जमीन भी देने का ऐलान किया.

गौरतलब है कि मॉब लिंचिंग के लिए बदनाम राजस्थान में सीएम अशोक गहलोत अपनी गो सेवा के जरिए चुनावी रणनीति बनाना चाहते हैं. अगले महीने से पंचायत के चुनाव शुरू होने जा रहे हैं, इससे पहले बजट घोषणा के मुताबिक पंचायत स्तर पर नंदी गोशाला खोलने का काम शुरू कर दिया है.

Read more!

RECOMMENDED