आदिवासी बहुल डूंगरपुर विधानसभा में कांग्रेस-बीजेपी में सीधी टक्कर!

राजस्थान मे विधानसभा की कुल 200 सीटें हैं, साल 2013 के विधानसभा चुनाव में में बीजेपी 163 सीटों के साथ सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी. जबकि कांग्रेस 21 सीटों पर सिमट गई. बसपा को 3, NPP को 4, NUZP को 2 सीटें मिली थीं. जबकि 7 सीटों पर निर्दलीय उम्मीदवार जीते थे.

डूंगरपुर शहर, फाइल फोटो
विवेक पाठक
  • नई दिल्ली,
  • 28 अगस्त 2018,
  • अपडेटेड 6:30 PM IST

राजस्थान में चुनावी बिगुल बज चुका है. जहां एक तरफ मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे राजस्थान गौरव यात्रा के नाम पर जनता के बीच बीजेपी सरकार की उप्लब्धियां गिना रहीं हैं. वहीं कांग्रेस संकल्प रैली के माध्यम से बीजेपी नीत राजे सरकार की नाकामियों को उजागर करने में जुटी है. खास बात यह है कि बीजेपी और कांग्रेस दोनों ने ही सबसे पहले मेवाड़-वागड़ क्षेत्र को अपने प्रचार के लिए चुना.

राजस्थान का डूंगरपुर, बांसवाड़ा और उदयपुर का कुछ क्षेत्र 'वागड़' कहलाता है. वागड़ एक आदिवासी बहुल क्षेत्र है. डूंगरपुर दक्षिणी राजस्थान में बसा नगर है, जिसकी स्थापना 1282 में रावल वीर सिंह ने की थी. उन्होंने यह क्षेत्र भील प्रमुख डुंगरिया को हरा कर किया था, जिनके नाम पर इस जगह का नाम डूंगरपुर पड़ा था. यहां से होकर बहने वाली सोम और माही नदियां इसे उदयपुर और बंसवाड़ा से अलग करती हैं.

डूंगरपुर विधानसभा क्षेत्र संख्या 158 की बात की जाय को ये बांसवाड़ा लोकसभा क्षेत्र में आता है. आदिवासी बहुल क्षेत्र होने की वजह से डूंगरपुर सीट अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित विधानसभा है. 2011 की जनगणना के अनुसार यहां की आबादी 356732 है, जिसका 86.63 प्रतिशत हिस्सा ग्रामीण और 13.37 प्रतिशत हिस्सा शहरी है. वहीं, कुल आबादी का 75.87 फीसदी अनुसूचित जनजाति और 2.95 फीसदी आबादी अनुसूचित जाति है.

2017 की वोटर लिस्ट के अनुसार डूंगरपुर में 218964 मतदाता और 236 पोलिंग बूथ हैं. साल 2013 के विधानसभा चुनाव में 72.85 फीसदी मतदान हुआ और 2014 के लोकसभा चुनाव में 63.17 फीसदी मतदान हुआ था.

2013 विधानसभा चुनाव का परिणाम

साल 2013 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी के देवेंद्र कटारा ने कांग्रेस विधायक लाल शंकर घाटिया को 3845 मतों से पराजित किया. बीजेपी के देवेंद्र कटारा को 58531 और कांग्रेस के लाल शंकर घाटिया को 54686 वोट मिले थे.

2008 विधानसभा चुनाव का परिणाम

साल 2008 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के लाल शंकर घाटिया ने बीजेपी की सुशीला भील को 11561 वोटों से शिकस्त दी. कांग्रेस के लाल शंकर घाटिया को 48536 और बीजेपी की सुशीला भील को 36915 वोट मिले थे.

Read more!

RECOMMENDED