India's Longest Rail Bridge: नर्मदा नदी के ऊपर बन रहा देश का सबसे लंबा रेलवे ब्रिज, इस रूट पर दौड़ेंगी डबल डेकर मालगाड़ी

Longest Railway Bridge in Bharuch: रेलवे मंत्रालय द्वारा गुड्स ट्रेन के लिए विभिन्न रूट्स पर अलग लाइन डाली जा रही है. इसके लिए गुजरात के भरुच के पास नर्मदा नदी के ऊपर देश का सबसे लंबा रेलवे ब्रिज बनाया जा रहा है.

India's Longest Railway Bridge India's Longest Railway Bridge
दिग्विजय पाठक
  • भरुच,
  • 28 मई 2022,
  • अपडेटेड 2:02 PM IST
  • मुंबई से यूपी को जोड़ेगी ये लाइन
  • एक साल के अंदर शुरू हो जाएगा ट्रैक

Indian Railway, Longest Rail Bridge: भारतीय रेलवे (Indian Railway) ने मालगाड़ी की बढ़ती डिमांड को देखते हुए गुड्स ट्रेन के लिए अलग से लाइन डालने का निर्णय लिया है. ये लाइन मुंबई से उत्तर प्रदेश को जोड़ेगी. इस बीच, गुजरात के भरुच के पास नर्मदा नदी के ऊपर देश का सबसे लंबा रेलवे ब्रिज बनाया जा रहा है, जिसका काम अंतिम चरण में चल रहा है. इस ब्रिज की लम्बाई 1396.35 मीटर है. 

मुंबई से यूपी को जोड़ेगी ये लाइन
रेलवे मंत्रालय के द्वारा मुंबई JNPT (जवाहरलाल नहेरु पोर्ट) से लेकर उत्तर प्रदेश के दादरी तक गुड्स ट्रेन के लिए अलग लाइन डाली जा रही है, जिसको वेस्टर्न डेडिकेटेड फ्रेईड कॉरिडोर  (Western Dedicated Freight Corridor) नाम दिया गया है, जो 1504  किमी का होगा. गुजरात में फिलहाल पालनपुर तक लाइन शुरू हो गई है और अगले कुछ महीनों  में वड़ोदरा तक की लाइन शुरू हो जाएगी. इस कॉरिडोर के लिए भरूच  के पास नर्मदा नदी पर रेलवे ब्रिज बनाया जा रहा है. माना जाता है की यह देश का सबसे लंबा ब्रिज होगा, जिस पर डबल डेकर गुड्स ट्रेन चलेंगी. 

नर्मदा नदी के ऊपर बन रहा ब्रिज
नर्मदा नदी के ऊपर बन रहा ब्रिज 1396.35 मीटर यानी के करीब डेढ़ किलोमीटर का है. ये देश का सबसे लंबा ब्रिज हो सकता है. इस ब्रिज में कुल 29 स्पान हैं और कुछ ही दिन पहले उस पर अंतिम गर्डर लगाया गया है. एल.एन्ड टी कंपनी के  द्वारा यह ब्रिज बनाया जा रहा है. इस पर से 15000 टन की क्षमता के साथ गुड्स ट्रेन दौड़ेंगी, जिसकी स्पीड करीब 100 से 120 किलोमीटर की रहेगी.

डेडिकेटेड फ्रेईड कॉरिडोर के अधिकारी ने क्या बताया?
रेलवे के वेस्टर्न डेडिकेटेड फ्रेईड कॉरिडोर के अधिकारी जीतेन्द्र अग्रवाल ने बताया की यह ट्रैक एक साल के अंदर पूरा शुरू हो जाने के प्रयास किए जा रहे है. इस साल के अंत तक वड़ोदरा तक गुड्स ट्रेन दौड़ना शुरू हो जाएंगी. यह ट्रैक बनने से पैसेंजर ट्रेन को भी अलग ट्रैक मिल जायेगा और गुड्स का आवागमन भी सरल हो जाएगा.

 

 

Read more!

RECOMMENDED