महाराष्ट्र की महिला और बाल विकास मंत्री पंकजा मुंडे फिर विवादों में, AAP ने लगाया घपले का आरोप

महाराष्ट्र की महिला और बाल विकास मंत्री पंकजा मुंडे फिर से विवादों में हैं. आम आदमी पार्टी ने आरोप लगाया है कि पंकजा ने अपने पद का दुरुपयोग करते हुए ब्लैक लिस्टेड कंपनियों को टेंडर बांटे और सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइंस का उल्लंघन किया.

प्रेस कॉन्फ्रेंस में जानकारी देती AAP नेता प्र‍ीति
दिनेश अग्रहरि/मयूरेश गणपतये
  • मुंबई,
  • 31 मई 2017,
  • अपडेटेड 2:58 PM IST

महाराष्ट्र की महिला और बाल विकास मंत्री पंकजा मुंडे फिर से विवादों में हैं. आम आदमी पार्टी ने आरोप लगाया है कि पंकजा ने अपने पद का दुरुपयोग करते हुए ब्लैक लिस्टेड कंपनियों को टेंडर बांटे और सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइंस का उल्लंघन किया. पंकजा ने इन आरोपों को निराधार बताया है.

आम आदमी पार्टी की नेता प्रीति शर्मा मेनन का आरोप है कि मुंडे ने आंगनवाड़ी स्कीम में घपला किया है. प्रीति ने अपने आरोपों में बीजेपी अध्यक्ष राव साहेब दानवे का नाम भी लिया है. एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में प्रीति ने कहा कि केंद्र और सुप्रीम कोर्ट के कई फैसलों में साफ कहा गया है कि खाने की पौष्टिक चीजों की सप्लाई ठेकेदारों से नहीं गांवों में चलने वाले सेल्फ हेल्प ग्रुप और महिला मंडलों से ली जाएगी, लेकिन पंकजा मुंडे ने कांट्रैक्ट प्राइवेट कंपनियों को दिए. पंकजा ने टेक होम राशन का 88 फीसदी कांट्रेक्ट ऐसी कंपनियों को दिया जिन्हें सुप्रीम कोर्ट ने ब्लैक लिस्ट कर रखा था. इन कंपनियों के नाम हैं-व्यंकटेश्वर औद्योगिक उत्पादन सरकारी संस्था लिमिटेड, महालक्ष्मी महिला गृह उद्योग एवं बाल विकास बहुउद्देशीय औद्योगिक सहकारी संस्थान और महाराष्ट्र महिला सहकारी गृह उद्योग संस्था लिमिटेड.

AAP का आरोप है कि पंकजा ने टेक होम राशन के लिए टेंडर इस तरह निकाला कि सिर्फ ये तीन कंपनियां ही दौड़ में रहें बाकी बाहर हो जाएं और इन्हें 4805.75 करोड़ रुपये के ठेके दिए गए. आम आदमी पार्टी के मुताबिक जालना की मोरेश्वर नाम की एक कंपनी को भी ये ठेके दिए गए, जिसमें अतुल वांजरेकर नाम का शख्स बीजेपी अध्यक्ष राव साहेब दानवे का पीए है. इन आरोपों पर रावसाहेब दानवे की ओर से प्रतिक्रिया हासिल नहीं हो सकी है.

Read more!

RECOMMENDED