मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की आज असल परीक्षा, महाराष्ट्र विधानसभा में होगा फ्लोर टेस्ट

महाराष्ट्र में उद्धव सरकार आज शनिवार को विधानसभा में अपना बहुमत साबित करेगी. फ्लोर टेस्ट शनिवार को 2 बजे होगा. वहीं इसके अगले दिन रविवार को स्पीकर का चुनाव होगा और सोमवार को राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी सदन को संबोधित करेंगे.

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ( फोटो- PTI)
साहिल जोशी/कमलेश सुतार
  • मुंबई,
  • 29 नवंबर 2019,
  • अपडेटेड 11:59 PM IST

  • आज शनिवार 2 बजे होगा फ्लोर टेस्ट
  • 12 बजे तक स्पीकर का नाम भेजना होगा
  • फ्लोर टेस्ट से पहले होगी स्पीकर पर चर्चा

उद्धव सरकार आज शनिवार को महाराष्ट्र विधानसभा में अपना बहुमत साबित करेगी. फ्लोर टेस्ट शनिवार को 2 बजे होगा. वहीं रविवार को स्पीकर का चुनाव होगा और सोमवार को राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी सदन को संबोधित करेंगे. ठाकरे सरकार ने शनिवार को विधानसभा का विशेष सत्र बुलाया है.

महाराष्ट्र में चली लंबी राजनीतिक कवायद के बाद शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने गुरुवार को राज्य के 19वें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली. लगातार चली बातचीत के बाद शिवसेना ने कांग्रेस और एनसीपी के साथ मिलकर नई सरकार बना ली.

उद्धव ठाकरे ने पहली परीक्षा तो पास कर ली है, लेकिन अब असली परीक्षा शनिवार को होगी. उन्हें विधानसभा में फ्लोर टेस्ट से गुजरना पड़ेगा और बहुमत साबित करना होगा.

महाराष्ट्र विधानसभा का विशेष सत्र शनिवार से शुरू हो रहा है. सदन के पहले दिन बहुमत से पहले मुख्यमंत्री, मंत्रियों और सदन के नेता प्रतिपक्ष का परिचय सदन से कराया जाएगा. 1 दिसंबर को स्पीकर का चयन किया जाएगा. 2 दिसंबर को राज्यपाल नवगठित सदन को संबोधित करेंगे.

स्पीकर के लिए 12 बजे नामांकन

उद्धव ठाकरे सरकार के बहुमत हासिल करने से पहले कल दोपहर 12 बजे तक कांग्रेस को स्पीकर पोस्ट के लिए नामांकन दाखिल करना होगा. कांग्रेस को इसके लिए 3 नाम भेजने हैं और सरकार में शामिल तीनों दल मिलकर किसी एक नाम पर मुहर लगाएंगे. हालांकि स्पीकर का चयन 1 दिसंबर को किया जाएगा.

माना जा रहा है कि सदन की कार्यवाही 2 दिन तक चल सकती है. बहुमत साबित होने से पहले शनिवार को शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी स्पीकर पोस्ट के लिए विधान भवन में सुबह साढ़े 9 बजे बैठक करेंगी. कांग्रेस ने अभी तक नाम नहीं भेजा है और दोपहर 12 बजे तक नाम भेजने की समयसीमा है.

दूसरे दिन रविवार को पहले सत्र में स्पीकर का चयन किया जाएगा. स्पीकर का चयन होने के बाद सदन में नेता प्रतिपक्ष का ऐलान किया जाएगा. इसके बाद राज्यपाल सदन को संबोधित करेंगे.

Read more!

RECOMMENDED