महाराष्ट्र: BJP के नकारने के बाद राज्यपाल ने शिवसेना से पूछा- क्या सरकार बनाएंगे?

भारतीय जनता पार्टी के महाराष्ट्र में सरकार बनाने से इनकार करने पर राज्यापाल भगत सिंह कोश्यारी ने दूसरी सबसे बड़ी पार्टी शिवसेना से सरकार बनाने के बारे में पूछा है. बीजेपी ने रविवार को राज्यपाल से मुलाकात कर कहा था कि हमारे पास बहुमत नहीं है इसलिए हम सरकार नहीं बना सकते.

राज्यपाल ने शिवसेना से सरकार गठन के बारे में पूछा (फोटो-PTI)
साहिल जोशी/सौरभ वक्तानिया
  • मुंबई,
  • 10 नवंबर 2019,
  • अपडेटेड 12:37 AM IST

  • महाराष्ट्र में सरकार गठन के लिए 145 MLA जरूरी
  • विधानसभा चुनाव में बीजेपी को मिलीं 105 सीटें
  • 56 सीटों पर जीत पाने में सफल रही थी शिवसेना

भारतीय जनता पार्टी के महाराष्ट्र में सरकार बनाने से इनकार करने पर राज्यापाल भगत सिंह कोश्यारी ने दूसरी सबसे बड़ी पार्टी शिवसेना से सरकार बनाने के बारे में पूछा है. बीजेपी ने रविवार को राज्यपाल से मुलाकात कर कहा था कि हमारे पास बहुमत नहीं है इसलिए हम सरकार नहीं बना सकते.

महाराष्ट्र में अब नया सियासी मोड़ आ गया है. सरकार बनाने से बीजेपी के इनकार के बाद अब राज्यपाल ने दूसरी सबसे बड़ी पार्टी शिवसेना से सरकार बनाने के लिए पूछा है. राजभवन की ओर से जारी पत्र में कहा गया है कि क्या शिवसेना सरकार बनाना चाहती है.

ये भी पढ़ें-मंझधार में महाराष्ट्र, BJP ने राज्यपाल से कहा- हम अकेले नहीं बना सकते सरकार

इससे पहले राज्यपाल की ओर से बीजेपी से यही बात पूछी गई थी, लेकिन बीजेपी ने संख्याबल न होने का हवाला देते हुए अकेले सरकार बनाने से इनकार कर दिया था. महाराष्ट्र चुनाव में किसी एक पार्टी को बहुमत नहीं मिला है और बीजेपी-शिवसेना गठबंधन को जनता ने बहुमत दिया है. ऐसे में पहले राज्यपाल ने सबसे बड़े दल बीजेपी से सरकार गठन के लिए पूछा था और उसके इनकार पर दूसरे बड़े दल शिवसेना से वही बात पूछी गई है.

शिवसेना को 56 सीटों पर मिली थी जीत

बता दें कि 21 अक्टूबर को महाराष्ट्र में हुए विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने 105 और शिवसेना ने 56 सीटों पर जीत हासिल की थी. राज्य में 288 सदस्यीय विधानसभा में बहुमत हासिल करने के लिए 145 सीटों पर जीत की आवश्यकता होती है.

रणनीति की घोषणा करेंगे: संजय राउत

इससे पहले शिवसेना के नेता संजय राउत ने कहा था कि यदि महाराष्ट्र में कोई और सरकार गठित नहीं कर पाता है तो उनकी पार्टी अपनी अगली रणनीति की घोषणा करेगी. उन्होंने साथ ही कहा कि राजनीति उनके दल के लिए कोई कारोबार नहीं है.

ये भी पढ़ें-शिवसेना का नया ट्विस्ट- अब उद्धव ठाकरे को मुख्यमंत्री बनाने की मांग

संजय राउत ने किसी व्यक्ति या पार्टी का नाम लिए बगैर कहा कि 'अजेय' होने का बुलबुला फूट गया है और सरकार गठन के लिए नेता को 'खरीदने' का घमंड राज्य में अब काम नहीं करता. उन्होंने पत्रकारों से कहा कि यदि कोई सरकार गठित नहीं करता है, तो शिवसेना 'दखल' देगी.

Read more!

RECOMMENDED