NCP नेता प्रफुल्ल पटेल से ED ने 12 घंटे तक की पूछताछ, हुआ बड़ा खुलासा

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने वरिष्ठ एनसीपी नेता प्रफुल्ल पटेल से शुक्रवार को 12 घंटे तक पूछताछ की. यह पूछताछ मुंबई स्थित ईडी के दफ्तर पर हुई.

प्रफुल्ल पटेल से 12 घंटे तक पूछताछ (फाइल फोटो)
दिव्येश सिंह
  • मुंबई,
  • 18 अक्टूबर 2019,
  • अपडेटेड 11:54 PM IST

  • इकबाल मिर्ची के साथ कथित लैंड डील के मामले में हुई पूछताछ
  • ईडी ने शुक्रवार को प्रफुल्ल पटेल से 12 घंटे तक की पूछताछ

दाऊद इब्राहिम के करीबी इकबाल मिर्ची के साथ कथित लैंड डील के मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने वरिष्ठ एनसीपी नेता प्रफुल्ल पटेल से शुक्रवार को 12 घंटे तक पूछताछ की. प्रफुल्ल पटेल से अगले हफ्ते फिर ईडी पूछताछ करेगी. शुक्रवार को हुई पूछताछ मुंबई स्थित ईडी के दफ्तर में हुई. इस दौरान ईडी अधिकारियों ने बताया कि फ्रफुल्ल पटेल और आसिफ मेमन के बीच करोड़ों की डील हुई थी.

आसिफ इकबाल मिर्ची का बेटा है और वर्ली में प्रफुल्ल पटेल की कंपनी द्वारा बनाए गए 14000 वर्गफीट की प्रीमियम हाई-उदय प्रोपर्टी के मालिकों में से एक है. बता दें कि पटेल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा था कि उनकी कंपनी और मेमन के बीच किसी प्रकार का लेनदेन नहीं हुआ है.

क्या है पूरा मामला

दरअसल, इकबाल मिर्ची और प्रफुल्ल पटेल के बीच कथित लैंड डील को लेकर जांच हो रही है. ईडी का आरोप है कि पटेल के परिवार की तरफ से प्रमोटेड कंपनी और इकबाल मिर्ची के बीच डील हुई थी. आरोप है कि इस डील के जरिए मिलेनियम डिवेलपर्स को मिर्ची का वर्ली स्थित प्‍लॉट दिया गया था. प्लॉट पर मिलेनियम डिवेलपर्स ने 15 मंजिला कमर्शियल और रेजिडेंशल इमारत बनाई है.

वहीं प्रवर्तन निदेशालय ने रंजीत बिंद्रा को हिरासत में लिया था. रंजीत बिंद्रा पर आरोप है कि उसने भूमि सौदे में बिचौलिए का काम किया था. बता दें कि इकबाल मिर्ची की साल 2013 में मौत हो गई थी. ईडी ने कोर्ट में कहा कि वर्ली की संपत्तियां इकबाल मिर्ची की हैं, जिनकी अनुमानित कीमत 2000 करोड़ रुपये हो सकती है.

इसका इस्तेमाल आतंकी फंडिंग के लिए की गई. इसकी शुरुआती डील 225 करोड़ की थी, जिसमें सनब्लिंक डेवलेपर्स और जॉय कंस्ट्रक्शन के साथ इकबाल मिर्ची का नाम शामिल है. इस मामले में बिंद्रा और हारून युसुफ ने इकबाल मिर्ची के सहयोगी की तरह खुद को पेश किया है.

Read more!

RECOMMENDED