नागपुर में मायावती का ऐलान- अंबेडकर की तरह अपना लूंगी बौद्ध धर्म

मायावती ने नागपुर में एक रैली को संबोधित करते हुए इसका ऐलान किया. उन्होंने कहा कि सही समय पर इसका फैसला करेंगी. उन्होंने कहा, मैं भी बौद्ध धर्म की अनुयायी बनने के लिए दीक्षा जरूर लूंगी.

बीएसपी प्रमुख मायावती (फाइल फोटो- PTI)
aajtak.in
  • नई दिल्ली,
  • 14 अक्टूबर 2019,
  • अपडेटेड 12:16 AM IST

  • मायावती ने कहा, बौद्ध धर्म की अनुयायी बनने के लिए दीक्षा जरूर लूंगी
  • बीएसपी प्रमुख ने नागपुर रैली में बीजेपी और कांग्रेस पर निशाना साधा

बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) प्रमुख मायावती ने सोमवार को नागपुर में कहा कि वह बाबा साहेब की तरह बौद्ध धर्म की दीक्षा लेंगी. नागपुर में एक रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने इसका ऐलान किया. उन्होंने कहा कि सही समय पर इसका फैसला करेंगी.

मायावती ने कहा कि बाबा साहब भीमराव अंबेडकर ने अपने देहांत से कुछ वक्त पहले अपना धर्म परिवर्तन कराया था. आप लोग मेरे धर्म परिवर्तन के बारे में भी सोचते होंगे. मैं भी बौद्ध धर्म की अनुयायी बनने के लिए दीक्षा अवश्य लूंगी लेकिन यह तब होगा जब इसका सही समय आ जाए.

'संघ प्रमुख की बात से सहमत नहीं'

मायावती ने रैली में यह भी कहा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत की बात से सहमत नहीं हैं कि भारत एक हिंदू राष्ट्र था. मायावती ने कहा कि बाबा साहेब अंबेडकर ने सेकुलरिज्म के आधार पर संविधान की रचना की थी. मायावती नागपुर में महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में बीएसपी उम्मीदवारों के लिए चुनाव प्रचार कर रही हैं. यहां 21 अक्टूबर को मतदान है और वोटों की गिनती 24 अक्टूबर को होगी.

बीजेपी, कांग्रेस पर निशाना

मायावती ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की गलत नीतियों के चलते देश की अर्थव्यवस्था में सुस्ती आई है. उन्होंने आरोप लगाया कि सरकारी नौकरियों में दलित और आदिवासियों को प्रमोशन से वंचित करने के लिए कांग्रेस और बीजेपी ने एक दूसरे से साठगांठ की है. मायावती ने कहा कि मौजूदा सरकार ने दलित और आदिवासियों के लिए बने कानून को निष्प्रभावी करने का काम किया है.

Read more!

RECOMMENDED