हेलिकॉप्टर नहीं उतरने देने से नाराज शिवराज सिंह ने DM के खिलाफ की शिकायत

पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान बुधवार को चुनावी रैली के लिए हेलिकॉप्टर उतारने की इजाजत नहीं मिलने पर बेहद नाराज हो गए थे और उन्होंने खुलेआम धमकी भी दे डाली. डीएम को कथित धमकी देने के एक दिन बाद शिवराज ने आरोप लगाया कि कलेक्टर एक राजनीतिक दल के इशारे पर काम कर रहे हैं.

चुनाव आयोग में डीएम के खिलाफ शिवराज ने की शिकायत (फोटो-रवीश)
रवीश पाल सिंह
  • भोपाल,
  • 25 अप्रैल 2019,
  • अपडेटेड 1:42 PM IST

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवराज सिंह चौहान ने लोकसभा चुनाव के प्रचार के लिए छिंदवाड़ा के उमरेठ में हेलिकॉप्टर उतारने की अनुमति नहीं दिए जाने पर जिलाधिकारी श्रीनिवास शर्मा की शिकायत अब राज्य निर्वाचन आयोग से कर दी है. शिवराज का आरोप है कि जिलाधिकारी एक राजनीतिक दल के इशारे पर काम कर रहे हैं.

पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान बुधवार को चुनावी रैली के लिए हेलिकॉप्टर उतारने की इजाजत नहीं मिलने पर बेहद नाराज हो गए थे और उन्होंने खुलेआम धमकी भी दे डाली. डीएम को कथित धमकी देने के एक दिन बाद गुरुवार को शिवराज सिंह चौहान ने आरोप लगाया कि कलेक्टर एक राजनीतिक दल के इशारे पर काम कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि उनका हेलिकॉप्टर नियमों के तहत ही उतरना था, लेकिन अनुमति नहीं मिलने से जनसभाओं और रोड शो में देरी हुई.

चुनावी सभा में हुई देरी के बाद बुधवार को सभा के दौरान शिवराज सिंह चौहान ने कलेक्टर पर सवाल उठाए थे और उन्हें 'पिट्ठू कलेक्टर' तक कह डाला था. छिंदवाड़ा राज्य के मुख्यमंत्री कमलनाथ का संसदीय क्षेत्र हैं. मध्य प्रदेश में चौथे चरण के तहत 29 अप्रैल को मतदान होना है.

छिंदवाड़ा के उमरेठ में हेलिकॉप्टर को उतारने की इजाजत नहीं मिलन के बाद बीजेपी के नेता शिवराज सिंह चौहान के राज्य के मुख्यमंत्री कमलनाथ पर तीखा हमला किया. एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए उन्होंन कहा, 'पश्चिम बंगाल में ममता दीदी नहीं उतरने दे रही थीं. ममता दीदी के बाद मध्य प्रदेश में कमलनाथ दादा नहीं उतरने दे रहे. सत्ता के मद में ऐसे चूर मत होओ... ये पिट्ठू कलेक्टर सुन ले रे, हमारे दिन भी जल्दी आएंगे, तब तेरा क्या होगा?'

चुनाव की हर ख़बर मिलेगी सीधे आपके इनबॉक्स में. आम चुनाव की ताज़ा खबरों से अपडेट रहने के लिए सब्सक्राइब करें आजतक का इलेक्शन स्पेशल न्यूज़लेटर

Read more!

RECOMMENDED