'आजतक' की खबर का असर, खराब सड़कों की जांच कराएगी कमलनाथ सरकार

आजतक की खबर का एक बार फिर बड़ा असर हुआ है. मध्य प्रदेश में भारी बारिश के बाद पूरे प्रदेश की सड़कों की जो दुर्दशा है उसे गुरुवार को आजतक ने दिखाया था, जिसके बाद शुक्रवार को पीडब्ल्यूडी मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने खराब सड़कों की जांच का आश्वासन दिया है.

आजतक की खबर का असर
रवीश पाल सिंह
  • भोपाल,
  • 12 अक्टूबर 2019,
  • अपडेटेड 6:46 PM IST

  • 'आजतक' की खबर का असर, PWD मंत्री ने लिया एक्शन
  • भोपाल की प्रमुख सड़कें 30 नवंबर तक कर दी जाएंगी ठीक

'आजतक' की खबर का एक बार फिर बड़ा असर हुआ है. दरअसल, मध्य प्रदेश में हुई भारी बारिश के बाद पूरे प्रदेश की सड़कों की जो दुर्दशा है उसे गुरुवार को 'आजतक' ने दिखाया था, जिसके बाद शुक्रवार (11 अक्टूबर) को पीडब्ल्यूडी मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने खराब सड़कों की जांच का आश्वासन दिया है.

बता दें कि 'आजतक' ने गुरुवार को भोपाल की प्रमुख सड़कों पर बने गड्ढों से जुड़ी एक रिपोर्ट दिखाई थी. इसमें जिंसी चौराहा, कर्बला रोड, रायसेन रोड, कोलार और वीआईपी रोड शामिल थीं.

'ठेकेदार को ब्लैकलिस्ट किया जाएगा'

'आजतक' से बात करते हुए आज पीडब्ल्यूडी मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने 'आजतक' को धन्यवाद दिया और कहा, 'खबर देखने के बाद मैंने अफसरों से इस बात की जानकारी मंगवाई कि इन सड़कों का ठेका किसे दिया गया था. उनकी हम जांच करवाएंगे और जरूरत पड़ने पर ठेकेदार को ब्लैकलिस्ट किया जाएगा.'

सड़कों पर गड्ढे

शिवराज सिंह चौहान के समय की सड़कें

मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने सड़कों की क्वालिटी पर सवाल उठाते हुए कहा कि ये सभी सड़कें शिवराज सिंह चौहान के समय की बनी हैं. उन्होंने कहा, 'हमने जिन सड़कों को बनाने का निर्देश दिया, वो सड़कें तो अब बननी शुरू हुई हैं, जो भारी बारिश में भी टिकी रहेंगी.'

'30 नवंबर तक सड़कें ठीक कर जाएंगी'

वहीं, खराब सड़कों की मरम्मत के सवाल पर पीडब्ल्यूडी मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने कहा, 'हमने सड़कों को दुरुस्त करने की डेडलाइन दे दी है. 30 नवंबर तक सड़कें ठीक कर दी जाएंगी.'

दरअसल, मध्य प्रदेश में इस साल हुई भारी बारिश ने जानमाल का तो नुकसान किया ही वहीं राज्य के ज्यादातर हिस्सों में सड़कों को बुरी तरह नुकसान पहुंचाया है. हालात ये है कि भोपाल में भी सड़कों पर इतने बड़े-बड़े गड्ढे बन गए हैं कि राजधानी की सड़कों पर सफर करना भी किसी बुरे सपने से कम नहीं है.

Read more!

RECOMMENDED