साध्वी प्रज्ञा को गांधीवादी विचारधारा के स्लोगन, लिखे गए पोस्टकार्ड

गुजरात कांग्रेस के प्रमुख अमित चावड़ा ने भी साध्वी प्रज्ञा के बयान की आलोचना करते हुए वर्तमान भाजपा सरकार पर गांधीविरोधी विचारधारा के लोगों को समर्थन करने का आरोप भी लगाया.

साध्वी प्रज्ञा के नाम गांधीवादी विचारधारा के स्लोगन
गोपी घांघर
  • नई दिल्ली,
  • 09 जून 2019,
  • अपडेटेड 8:40 PM IST

भोपाल से सांसद साध्वी प्रज्ञा द्वारा महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताने वाले बयान पर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है. साध्वी प्रज्ञा के इस बयान के विरोध में महात्मा गांधी की कर्मभूमि साबरमती आश्रम में गांधीवादी विचारधारा से प्रेरित लोग और कांग्रेसी नेताओं ने राम धुन में अपना विरोध प्रदर्शन किया और साध्वी प्रज्ञा को गांधी की विचारधारा के स्लोगन वाले पोस्टकार्ड लिखे.

कार्यक्रम में हिस्सा लेने आए गुजरात कांग्रेस के प्रमुख अमित चावड़ा ने भी साध्वी प्रज्ञा के बयान की आलोचना करते हुए वर्तमान भाजपा सरकार पर गांधीविरोधी विचारधारा के लोगों को समर्थन करने का आरोप भी लगाया. चावड़ा ने कहा कि देश के कई हिस्सों में कुछ लोग गांधीजी का अपमान कर रहे हैं और सोशल मीडिया पर भी बापू के खिलाफ अमर्यादित शब्दों का प्रयोग किया जा रहा है, लेकिन इसे लेकर सरकार कोई कदम नहीं उठा रही, जिसके चलते ऐसे लोगों को बल मिल रहा है.

दरअसल, ये पूरा विवाद तब शुरू हुआ जब साध्वी प्रज्ञा लोकसभा 2019 के चुनाव प्रचार में जुटी थी, तभी साध्वी प्रज्ञा ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताया था, जिसके बाद उनके इस बयान की काफी आलोचना हुई और भारतीय जनता पार्टी तक ने साध्वी प्रज्ञा के इस बयान को उनका निजी बयान बताते हुए खुद का बचाव किया. साध्वी प्रज्ञा के इस बयान के बाद उनका काफी विरोध हुआ और देश के कई सामाजिक संगठन और पॉलिटिकल पार्टियों ने साध्वी प्रज्ञा के इस बयान पर आपत्ति जताई. हालांकि, बाद में साध्वी प्रज्ञा ने अपने विवादित बयान वापस लेते हुए माफी मांग ली थी.

Read more!

RECOMMENDED