कम मेहमान-PPE किट में जवान, कोरोना संकट में इस बार अलग होगा लाल किले पर आजादी का जश्न

दिल्ली के लाल किले की प्राचीर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कल तिरंगा फहराएंगे. कोरोना के कारण इस बार स्वतंत्रता दिवस समारोह में कई तरह के बदलाव किए गए हैं.

15 अगस्त को लेकर लाल किले पर तैयारियां पूरी
aajtak.in
  • नई दिल्ली,
  • 14 अगस्त 2020,
  • अपडेटेड 10:35 AM IST

  • इस बार स्कूली बच्चे नहीं होंगे शामिल
  • 150 के करीब होगी मेहमानों की लिस्ट
  • सोशल डिस्टेंसिंग नियम का होगा पालन

कोरोना संकट के बीच देश कल यानी 15 अगस्त को अपना 74वां स्वाधीनता दिवस मनाएगा. दिल्ली के लाल किले की प्राचीर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कल तिरंगा फहराएंगे. कोरोना के कारण इस बार स्वतंत्रता दिवस समारोह में कई तरह के बदलाव किए गए हैं. कम मेहमानों को बुलाया गया और पीपीई किट पहनकर जवान तैनात रहेंगे.

इस बार समारोह में सिर्फ नेशनल कैडेट कोर (एनसीसी) के 500 बच्चे शामिल होंगे. इन बच्चों में भी हर एक में 6 फीट की दूरी रहेगी. पहले हर स्वतंत्रता दिवस समारोह पर मौजूद स्कूली बच्चों का जोश देखते ही बनता था. हर साल करीब 3,500 स्कूली बच्चे मौजूद रहते थे. उन्हें प्रधानमंत्री से हाथ मिलाने का मौका भी मिलता था.

इंडिपेंडेंस डे: दिल्ली में इन इलाकों में रहेगा ट्रैफिक डायवर्जन, जानकारी लेकर घर से निकलें

कोरोना के कारण इस बार समारोह के लिए ओपन पास जारी नहीं किए जा रहे हैं. इसी तरह प्राचीर के भी दोनों तरफ सिर्फ 150 मेहमान होंगे. पहले हर साल ऐसे मेहमानों की संख्या 300 से 500 होती थी. अब कई वीआईपी प्राचीर की जगह सामने फोरग्राउंड पर कुर्सियों पर बैठे नजर आएंगे. कुल मेहमानों की संख्या 2000 के आसपास रखी गई है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को थल सेना, वायुसेना और नौसेना के जवानगार्ड ऑफ ऑनर देंगे. इनमें करीब 22 जवान और अफसर होंगे. वहीं, राष्ट्रीय सैल्यूट में 32 जवान और अफसर होंगे, साथ में दिल्ली पुलिस के जवान भी होंगे. कोरोना प्रोटोकॉल की वजह से ये जवान चार पंक्तियों में खड़े होंगे और सोशल डिस्टेंसिंग नियमों को बनाए रखेंगे.

SWAT-NSG-SPG-ITBP मुस्तैद, इंडिपेंडेंस डे पर ऐसी होगी लालकिले की सुरक्षा

इस बार समारोह में कोरोना वॉरियर्स भी शामिल होंगी. ऐसी चर्चा है कि कोरोना वॉरियर्स में दिल्ली पुलिस के 200 जवान, अर्धसैनिक बलों के जवान और स्वास्थ्यकर्मी भी शामिल हो सकते हैं. कोरोना से रिकवर हो चुके कुछ लोगों को भी बुलाए जाने की चर्चा है. कोरोना के खतरे को देखते हुए इस बार पूरे इलाके को अच्छी तरह सैनिटाइज किया जा रहा है.

इस बीच रक्षा मंत्रालय ने लाल किले पर ध्वाजारोहण की रस्सी हैंडल करने वाली सैन्य महिला अफसर का कोरोना टेस्ट कराया है. पीएम नरेंद्र मोदी की सुरक्षा को देखते हुए महिला सैन्य अफसर का कोरोना टेस्ट कराया गया है. 15 अगस्त को प्रधानमंत्री जब ध्वजारोहण करेंगे तो वे उसी रस्सी को पकड़ेंगे जिसे पहले महिला सैन्य अफसर हैंडल करेंगी.

Read more!

RECOMMENDED