हवा ने बदला रुख, सोमवार को बढ़ सकता है दिल्ली का प्रदूषण

सोमवार को दिल्ली में एयर क्वालिटी सूचकांक यानी एक्यूआई 245 रिकॉर्ड किया गया है. एक्सपर्ट मान रहे हैं कि आने वाले दिनों में पराली के जलने के अलावा धीमी और नमी वाली हवा की वजह से दिल्ली और आसपास के इलाकों में प्रदूषण बढ़ सकता है.

प्रतीकात्मक तस्वीर
दीपू राय
  • नई दिल्ली,
  • 18 अक्टूबर 2019,
  • अपडेटेड 9:39 AM IST

  • हरियाणा की ओर से हवा की दिशा दिल्ली की ओर
  • कम गति की इस हवा में नमी बढ़ने का अंदेशा

सोमवार को दिल्ली में हवा का रुख बदलने से दिल्ली में प्रदूषण का स्तर बढ़ सकता है. हवा की दिशा और मौसम बताने वाली एजेंसी विंडफाइंडर के अनुमान के मुताबिक, सोमवार को सुबह से उत्तर-पश्चिम यानी हरियाणा की ओर से हवा दिल्ली की ओर आएगी. कम गति की इस हवा में नमी बढ़ने का भी अंदेशा है, जिसकी वजह से प्रदूषण फैलाने वाले कणों के और ज्यादा घातक होने का अंदेशा है.

क्या कहते हैं सैटेलाइट के आंकड़े?

सैटेलाइट के आंकड़े बताते हैं कि पिछले तीन दिनों में उत्तर भारत में करीब 1399 फायर प्वाइंट्स देखे गए हैं. इंडिया टुडे की डाटा इंटेलीजेंस टीम (डीआईयू) ने सैटेलाइट और विंड डाटा का विश्लेषण करने के बाद पाया कि पंजाब और हरियाणा समेत उत्तर भारत में पराली जलाने की घटना जारी है.

हालांकि इसमें थोड़ी कमी भी आई है लेकिन हवा उत्तर-पूर्व की जगह उत्तर-पश्चिम की ओर से बहने के संकेत से प्रदूषण में बढ़ोतरी की आशंका दिख रही है.

प्रदूषण का स्तर बढ़ने का अंदेशा

सोमवार को दिल्ली में एयर क्वालिटी सूचकांक यानी एक्यूआई 245 रिकॉर्ड किया गया है. एक्सपर्ट मान रहे हैं कि आने वाले दिनों में पराली के जलने के अलावा धीमी और नमी वाली हवा की वजह से दिल्ली और आसपास के इलाकों में प्रदूषण बढ़ सकता है.

दिल्ली में प्रदूषण का स्तर बढ़ने को लेकर भी नई बहस खड़ी हो गई है. पंजाब के प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड के एक बड़े अधिकारी का कहना है कि दिल्ली में प्रदूषण के लिए पंजाब से ज्यादा हरियाणा जिम्मेदार है. 'पंजाब में औसतन एक्यूआई 100 से 150 के आसपास है जबकि हरियाणा का पानीपत या करनाल जैसे शहरों का एक्यूआई शुक्रवार को 200 से ज्यादा रहा है.'

Read more!

RECOMMENDED