हेड कॉन्स्टेबल रतन लाल की हत्या मामले में 1100 पेज की चार्जशीट, ऐसे रची गई साजिश

दिल्ली पुलिस के हेड कॉन्स्टेबल रतन लाल की हत्या के मामले में करीब 1100 पेज की चार्जशीट दाखिल कर रही है. चार्जशीट में ये बताया गया है कि कैसे हिंसा की साजिश रची गई.

हेड कॉन्स्टेबल रतन लाल (फाइल फोटो)
अनुज मिश्रा/अरविंद ओझा
  • नई दिल्ली,
  • 08 जून 2020,
  • अपडेटेड 1:16 PM IST

  • पुलिस दाखिल कर रही है चार्जशीट
  • 17 लोगों को बनाया गया है आरोपी

दिल्ली पुलिस के हेड कॉन्स्टेबल रतन लाल की हत्या के मामले में करीब 1100 पेज की चार्जशीट दाखिल कर रही है. चार्जशीट में ये बताया गया है कि उपद्रवियों के 40 से 50 लोगों के एक ग्रुप ने 22 फरवरी को इलाके में एक घर के बेसमेंट में मीटिंग हुई थी, जिसमें हिंसा की साजिश रची गई.

साजिश के मुताबिक, घर के बच्चों और बुजुर्गों को घर में रहने की नसीहत देकर उपद्रवी सड़को पर निकले. 23 फरवरी को थोड़े हंगामे के बाद वापस आ गए, लेकिन फिर 24 फरवरी को एक बार उपद्रवी सड़कों पर निकलकर उत्पात मचाने लगे. इस दौरान शाहदरा के डीसीपी अमित शर्मा, एसपी अनुज शर्मा और हेड कांस्टेबल रतन लाल गंभीर रूप से घायल हो गए थे.

दिल्ली हिंसा: अकबरी बेगम हत्या केस में 6 आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट, घर में लगाई थी आग

हेड कॉन्स्टेबल रतन लाल की बाद में मौत हो गई थी. इस पूरे मामले में करीब 4 से 5 साजिश कर्ता है, जिसमें सलीम खान, सलीम मुन्ना और शादाब का नाम शामिल है. आरोप में 17 लोगों को एसआईटी ने गिरफ्तार किया था. चार्जशीट में सभी 17 आरोपी बनाए गए हैं.

पढ़ें- पथराव नहीं गोली लगने से हुई थी हेड कॉन्स्टेबल रतन लाल की मौत

इस मामले में अभी और भी आरोपी है, जिनकी गिरफ्तारी होना बाकी है, जिसमें महिलाएं भी शामिल हैं. चार्जशीट में सीसीटीवी की फुटेज, मोबाइल की वीडियो फुटेज, कॉल डिटेल्स और मौके पर मौजूद चश्मदीद पुलिस अधिकारियों और पुलिसकर्मियों के बयान भी शामिल किए गए हैं. करीब 60 से ज्यादा लोगों को गवाह बनाया गया है.

Read more!

RECOMMENDED