'पंजाब में पराली को अमरिंदर रोकेंगे, विजय गोयल का सिसोदिया से मिलना नौटंकी'

दिल्ली समेत पूरे उत्तर भारत में फैले प्रदूषण को लेकर आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता सौरभ सिंह व आप नेता और राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने बीजेपी पर जमकर बोला हमला. सुप्रीम कोर्ट में केंद्र की तरफ से दाखिल 2 हलफनामे के हवाले से दिल्ली में प्रदूषण कम होने का दावा किया.

संजय सिंह (फाइल फोटो)
राम किंकर सिंह
  • नई दिल्ली,
  • 07 नवंबर 2019,
  • अपडेटेड 8:46 PM IST

  • संजय सिंह ने प्रदूषण को लेकर बीजेपी पर साधा निशाना
  • सिंह ने दिल्ली में प्रदूषण कम होने का दावा किया

दिल्ली समेत पूरे उत्तर भारत में फैले प्रदूषण को लेकर आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता सौरभ सिंह व आप नेता और राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने बीजेपी पर जमकर बोला हमला. सुप्रीम कोर्ट में केंद्र की तरफ से दाखिल 2 हलफनामे के हवाले से दिल्ली में प्रदूषण कम होने का दावा किया.

संजय सिंह ने कहा कि अमित शाह को विजय गोयल को पार्टी से निकाल देना चाहिए. साथ ही उन्होंने विजय गोयल के पराली जलाने के विरोध को लेकर सिसोदिया से मिलने को नौटंकी करार दिया. संजय सिंह ने कहा, 'इनका मकसद सिर्फ आप का विरोध करना है. यही ऑड-ईवन की स्कीम उत्तर प्रदेश की योगी सरकार लागू करने जा रही है. योगी संत महात्मा हैं तो कोई गलती करते नहीं है. क्या वो भी वो गलती कर रहे हैं?.'

देश के 10 प्रदूषित शहरों में 8 उत्तर प्रदेश से हैं. जिसमें मेरठ, गाजियाबाद, नोएडा भी शामिल हैं. सिंह ने कहा, 'पंजाब में पराली जलाने को लेकर हम भी चिंतित हैं और विपक्ष में बैठकर AAP विरोध भी कर रही है. ये सरासर नौटंकी है वहां की आग को हम नहीं अमरिंदर सिंह बंद करेंगे. इसमें सिसोदिया जी क्या करेंगे. ये ड्रामेबाज पार्टी है. कुछ बोलने से पहले ये तो देख लेते कि सुप्रीम कोर्ट में केंद्र के अधिकारियों ने क्या लिख कर दिया.'

सौरभ सिंह ने मिनिस्ट्री ऑफ एनवायरनमेंट फॉरेस्ट एंड क्लाइमेट चेंज के सुप्रीम कोर्ट में दाखिल हलफनामे का हवाला देते हुए कहा कि, 'इस साल दिल्ली में उन दिनों में इजाफा हुआ है जिनमें हवा साफ सुथरी रहती है. जबकि खराब हवा वाले दिन दिल्ली में कम हुए हैं.'

पिछले साल जनवरी से नवंबर के बीच हवा के लिहाज से 157 अच्छे दिन थे, जो इस साल 175 हो गए. ). सौरभ ने कहा कि केंद्र ने माना कि दीवाली पर पटाखे और पराली जलाने से दिल्ली की हालात बिगड़ती है. हलफनामे के हवाले से कहा कि हरियाणा-पंजाब के मुख्य सचिव को 1 नवंबर को चिट्ठी लिखी गई कि पराली जलने की घटना बढ़ रही है जिससे दिल्ली का प्रदूषण बढ़ा है.

दूसरे  हलफनामें को कोट करते हुए आप प्रवक्ता ने कहा कि, 'मंत्री गलत बयानी कर रहे और शपथ पत्र पर अलग लिखा है. दिल्ली में कोई अचानक से करोड़ों गाड़ियां तो नहीं आईं, न ही ज्यादा लोग आए.' उनके मुताबिक पंजाब के अंदर 7600 लोगों को पराली से बचाने वाली मशीन बांटने का लक्ष्य था, 7829 लोगों ने मशीन मांगी, 2657 लोगों को मशीन दी गई, यानी मांगी जाने वाली मशीनों में एक तिहाई को ही दी गई.

हरियाणा ने तय किया कि वो 15 हजार लोगों को पराली से बचने की मशीन देंगे, 51274 लोगों ने मांग की थी लेकिन सिर्फ 5113 लोगों को मशीन दी गई यानी सिर्फ 10 प्रतिशत को यह सुविधा मिली.

Read more!

RECOMMENDED