मौत का फेसबुक लाइव, 199 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से बस से भिड़ी बाइक

छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले से. जहां मोटरसाईकिल सवार दो युवक 199 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से बाइक चला रहे थे. जिसका प्रसारण सोशल मीडिया साइट फेसबुक पर लाइव किया जा रहा था. ऐसे में जब बाइक सवार युवकों का ध्यान फेसबुक लाइव पर था, तभी विपरीत दिशा से आ रही एक बस से उनकी टक्कर हो गई.

फेसबुक लाइव करते बाइक सवार मनीष और मुरली
विवेक पाठक/सुनील नामदेव
  • कांकेर, छत्तीसगढ़,
  • 16 जुलाई 2018,
  • अपडेटेड 10:54 PM IST

फेसबुक लाइव का नशा युवाओं के सिर चढ़कर बोल रहा है. इसके लिए वे जान की बाजी लगाने से भी परहेज नहीं करते. ऐसा ही एक मामला सामने आया है छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले से. जहां मोटरसाईकिल सवार दो युवक 199 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से बाइक चला रहे थे. इसे सोशल मीडिया साइट फेसबुक पर LIVE किया जा रहा था. ऐसे में जब बाइक सवार युवकों का ध्यान फेसबुक लाइव पर था, तभी विपरीत दिशा से आ रही एक बस से उनकी टक्कर हो गई. हादसे में एक युवक की मौत मौके पर ही हो गई. जबकि दूसरे ने अस्पताल मे दम तोड़ दिया.  

मोटरसाइकिल सवार दोनों युवक छत्तीसगढ़ के बस्तर के रहने वाले थे. जिनकी पहचान मीनष कुमार और मुरली निषाद के तौर पर हुई है. बताया जा रहा है कि मनीष कुमार बाइक चला रहा था जबकि मुरली निषाद पीछे बैठकर इस कारनामे का फेसबुक पर लाइव प्रसारण कर रहा था. जिस वक्त यह स्टंट फेसबुक पर लाइव किया जा रहा था, उस वक्त उनके बाइक की रफ्तार 199 किमी प्रति घंटे थी.

मनीष और मुरली के दोस्त फेसबुक पर LIVE इस स्टंट पर अपनी निगाहें गड़ाए हुए थे. वहीं फेसबुक पर आ रहे कमेंट्स को यह दोनों दोस्त अपनी हौसला अफजाई समझ रहे थे. कांकेर से दोनों तेज रफ्तार मे चारामा इलाके तरफ इस बात से बेखबर होकर बढ़ रहे थे कि विपरीत दिशा से एक सवारी बस उन्हीं की तरफ बढ़ी चली आ रही है.  ऐसे में न ही बस चालक को संभलने का मौका मिला और न ही मोटरसाइकिल पर सवार इन दोनों युवकों को. जिससे दोनों वाहनों में सीधी टक्कर हो गई.

हादसे में मनीष की मौके पर ही मौत हो गई जबकि राहगीरों ने मुरली को फौरन अस्पताल में दाखिल कराया. लेकिन अस्पताल पहुंचते ही मुरली की भी मौत हो गई.

दोनों युवकों को बचाने की कोशिश में बस चालक द्वारा अचानक ब्रेक लगाने से बस में सवार यात्रियों को भी मामूली चोटें आईं. यह बस कांकेर से रायपुर जा रही थी. जिसमें 38 यात्री सवार थे. प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक 13 यात्रियों को मामूली चोटें आई. जिनका स्थानीय अस्पताल में प्राथमिक उपचार किया गया. प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक दोनों युवकों को बचाने के चक्कर मे अनियंत्रित बस सड़क किनारे एक झोपड़ी में जा घुसी. फिलहाल मुरली और मनीष के शव का पोस्टमॉर्टम कर उनके परिजनों को सौंप दिया गया है. पुलिस हादसे की वजह को लेकर स्थानीय लोगों से पूछताछ में जुटी है.

Read more!

RECOMMENDED