मोदी सरकार के फिटनेस फंडा को तेजस्वी ने बताया मुद्दों से ध्यान भटकाने का तरीका

तेजस्वी ने कहा, 'फिटनेस पर ध्यान देना अच्छी बात है. मगर सवाल है कि हमारा देश फिट रहेगा या नहीं रहेगा. देश में जो स्थिति अभी है हमने नरेंद्र मोदी जी को चैलेंज दिया है. आपने विराट कोहली का चैलेंज स्वीकार किया है. आप दो करोड़ रोजगार दीजिए. किसानों के कर्ज माफ कीजिए. पीएम को यह चैलेंज स्वीकार करना चाहिए.

तेजस्वी यादव
सुजीत झा/वरुण शैलेश
  • पटना,
  • 25 मई 2018,
  • अपडेटेड 12:16 AM IST

बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को देश के युवाओं को रोजगार मुहैया कराने की चुनौती दी है. उन्होंने कहा, 'पीएम मोदी ने विराट कोहली की सेहत पर चुनौती मंजूर की है. मैं भी उन्हें चैलेंज देता हूं कि वह युवाओं को रोजगार देने, किसानों की स्थिति में सुधार करने और दलितों पर हमलों को रोकने का अपना वादा पूरा करके दिखाएं.'

'आजतक' से तेजस्वी ने कहा, 'फिटनेस पर ध्यान देना अच्छी बात है. मगर सवाल है कि हमारा देश फिट रहेगा या नहीं रहेगा. देश में जो स्थिति अभी है हमने नरेंद्र मोदी जी को चैलेंज दिया है. आपने विराट कोहली का चैलेंज स्वीकार किया है. आप दो करोड़ रोजगार दीजिए. किसानों के कर्ज माफ कीजिए. पीएम को यह चैलेंज स्वीकार करना चाहिए.

तेजस्वी ने कहा कि पेट्रोल और डीजल की कीमतें शतक लगाने के करीब पहुंच गई हैं. जनता परेशान बेहाल है. पेट्रोल-डीजल के महंगा होने से दूसरी रोजमर्जा की चीजें भी महंगी हो जाती है. इसकी मार गरीब आदमी को झेलनी पड़ती है. ऐसे में बीजेपी के मंत्री फिटनेस को लेकर लोगों का असली मुद्दों से ध्यान भटकाने की कोशिश कर रहे हैं.

 संविधान बचाने को विपक्ष हो एकजुट

कर्नाटक में कुमार स्वामी के शपथग्रहण समारोह से पटना लौटे तेजस्वी यादव ने कहा, 'अगर 2019 के चुनाव में विपक्ष की एकता कायम नहीं रहेगी तो संविधान सुरक्षित नहीं रहेगा. संविधान नहीं बचेगा तो आरक्षण सुरक्षित नहीं रहेगा. दलों को अपने हितों से ज्यादा देश हित में, संविधान हित में लोकतंत्र के लिए सोचना पड़ेगा.'

Read more!

RECOMMENDED