बोले ओवैसी - PM नरेंद्र मोदी पर कार्रवाई करे चुनाव आयोग

असदुद्दीन ओवैसी 12 अप्रैल से ही किशनगंज में कैंप कर रहे हैं और अख्तरुल इमान के लिए जमकर प्रचार प्रसार कर रहे हैं. असदुद्दीन ओवैसी पिछले कुछ सालों से बिहार में पार्टी की सियासी जमीन को तैयार करने की कोशिश कर रहे हैं मगर इसमें उनको सफलता नहीं मिल पा रही है.

AIMIM के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने मोदी पर कार्रवाई की मांग की (फोटो-फाइल)
रोहित कुमार सिंह
  • किशनगंज,
  • 16 अप्रैल 2019,
  • अपडेटेड 10:54 AM IST

ऑल इंडिया मजलिस एत्तेहादुल मुसलमीन (AIMIM) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने सोमवार की शाम किशनगंज संसदीय सीट के कोचाधामन ब्लॉक के सोंथा हॉट में पार्टी के प्रत्याशी अख्तरुल इमान के पक्ष में चुनावी सभा को संबोधित किया. साथ ही उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बार-बार पुलवामा और बालाकोट हमले का जिक्र करने को लेकर चुनाव आयोग से उनके खिलाफ कार्रवाई करने की मांग भी की.

असदुद्दीन ओवैसी 12 अप्रैल से ही किशनगंज में कैंप कर रहे हैं और अख्तरुल इमान के लिए जमकर प्रचार प्रसार कर रहे हैं. असदुद्दीन ओवैसी पिछले कुछ सालों से बिहार में पार्टी की सियासी जमीन को तैयार करने की कोशिश कर रहे हैं मगर इसमें उनको सफलता नहीं मिल पा रही है.

जगह बनाने की कोशिश में ओवैसी

2015 के बिहार विधानसभा चुनाव में पहली बार असदुद्दीन ओवैसी ने अपनी पार्टी के सीमांचल क्षेत्र में छह उम्मीदवार खड़े किए थे लेकिन सभी हार गए.  सीमांचल क्षेत्र जिसमें अररिया, किशनगंज, पूर्णिया और कटिहार जिले शामिल हैं. यह पूरा इलाका मुस्लिम बहुल है. किशनगंज देश का एकमात्र जिला है जहां पर मुस्लिम आबादी से 70 फीसदी से भी ज्यादा है.

किशनगंज सीट का मुकाबला त्रिकोणीय होने जा रहा है. एक तरफ जहां जनता दल यूनाइटेड (जदयू) ने मोहम्मद अशरफ को टिकट दिया है वहीं कांग्रेस ने डॉक्टर जावेद को अपना उम्मीदवार बनाया है. इन दोनों राष्ट्रीय दलों को असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी भी जमकर चुनौती दे रही है.

किशनगंज के सोंथा हॉट में चुनावी सभा को संबोधित करने के बाद असदुद्दीन ओवैसी ने आजतक से खास बातचीत की और कहा कि उन्हें इस बात की पूरी उम्मीद है कि उनकी पार्टी का प्रत्याशी किशनगंज से चुनावी जीत हासिल करेगा.

नीतीश ने किया अपमान

बातचीत के दौरान असदुद्दीन ओवैसी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी जमकर बरसे और चुनावी कार्यक्रम के दौरान बार-बार पुलवामा और बालाकोट हमले का जिक्र करने को लेकर चुनाव आयोग से उनके खिलाफ कार्रवाई करने की मांग भी उठाई.

ओवैसी ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर भी जमकर प्रहार किया और कहा कि उन्होंने महागठबंधन से अलग होकर जनता का जनादेश का अपमान किया और बीजेपी की गोद में जाकर बैठ गए.

लोकसभा चुनाव के नतीजों को लेकर भी असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि उन्हें इस बात का पूरा भरोसा है कि 23 मई के बाद देश में गैर बीजेपी और गैर कांग्रेस सरकार बनेगी जिसे उनकी पार्टी समर्थन देगी.

Read more!

RECOMMENDED