पूर्व BJP सांसद विनोद खन्ना को मरणोपरांत दादासाहब फाल्के, सिनेमा का सर्वोच्च सम्मान

बॉलीवुड के दीग्गाज अभिनेता, पूर्व केंद्रीय मंत्री और बीजेपी के पूर्व सांसद विनोद खन्ना को सिनेमा में बेहतरीन योगदान के लिए दादा साहब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा. उन्हें ये सम्मान मरणोपरांत दिया जाएगा. सिनेमा में यह भारत का सर्वोच्च सम्मान है.

विनोद खन्ना
अनुज शुक्ला
  • नई दिल्ली,
  • 13 अप्रैल 2018,
  • अपडेटेड 12:41 AM IST

बॉलीवुड के दीग्गाज अभिनेता, पूर्व केंद्रीय मंत्री और बीजेपी के पूर्व सांसद विनोद खन्ना को सिनेमा में बेहतरीन योगदान के लिए दादा साहब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा. उन्हें ये सम्मान मरणोपरांत दिया जाएगा. सिनेमा में यह भारत का सर्वोच्च सम्मान है.

विनोद खन्ना ने गुजरे जमाने में बॉलीवुड की कई फिल्मों में बेहतरीन अभिनय किया. इनमें मेरे अपने, इंसाफ, परवरिश, मुकद्दर का सिकंदर, कुर्बानी, दयावान, मेरा गांव मेरा देश, चांदनी, द बर्निंग ट्रेन और अमर अकबर एंथोनी जैसी फिल्में शामिल हैं. विनोद खन्ना ने अपने करियर में कई तरह के रोल किए. उन्होंने नकारात्मक और चरित्र भूमिकाएं भी कीं. राजनीति में आने के बाद भी वो फिल्मों में अभिनय करते रहे थे.

इंजीनियरिंग ड्रॉपआउट है 37 साल का ये निर्देशक, दूसरी फिल्म ने जीता बड़ा अवॉर्ड

पिछले साल 27 अप्रैल को बीमारी के बाद मुंबई में विनोद खन्ना का निधन हो गया था. उस वक्त वो पंजाब के गुरुदासपुर लोकसभा सीट से बीजेपी के सांसद थे. विनोद खन्ना पूर्व में अटल बिहारी वाजपेयी की राजग सरकार में बीजेपी के कोटे से केंद्रीय मंत्री भी बने थे. तब उनके काम को काफी सराहा गया था. निधन के वक्त उनकी उम्र 70 वर्ष थी.

सुपर मॉम, सुपर वाइफ थीं श्रीदेवी, बेटियों संग बोनी ने यूं किया याद

शुक्रवार दोपहर 65वें नेशनल फिल्म अवॉर्ड्स की घोषणा हुई. ज्यूरी मेम्बरों की मौजूदगी में चीफ शेखर कपूर ने अवॉर्ड पाने वाली फिल्मों और कलाकारों के नाम की घोषणा की. अवॉर्ड्स की घोषणा के बाद शेखर कपूर ने कहा, वो भाग्यशाली हैं कि उन्हें विनोद खन्ना के साथ काम करने का मौका मिला.

Read more!

RECOMMENDED