उस डायन की कहानी जिसपर बनी फिल्म स्त्री

फिल्म स्त्री रिलीज हो चुकी है और बॉक्सऑफिस पर इसे दर्शकों द्वारा पसंद किया जा रहा है. हम आपको बता रहे हैं उस असली घटना के बारे में जिसपर ये फिल्म बनी है.

फिल्म स्त्री
पुनीत उपाध्याय
  • नई दिल्ली,
  • 01 सितंबर 2018,
  • अपडेटेड 5:16 PM IST

राजकुमार राव की हॉरर फिल्म स्त्री रिलीज हो चुकी है. बहुत कम ही ऐसी फिल्में बॉलीवुड में बनी हैं जो असल घटनाओं पर आधारित हैं. स्त्री भी ऐसी ही एक फिल्म है. फिल्म रिलीज हो चुकी है और बॉक्सऑफिस पर इसे दर्शकों द्वारा पसंद किया जा रहा है. हम आपको बता रहे हैं उस असली घटना के बारे में जिसपर ये फिल्म बनी है.

घटना 1990 के आस-पास की है. ये बेंगलुरु में घटित हुई थी. लोगों का मानना है कि एक डायन लोगों के घर में आकर रात में दरवाजा खटखटाती थी. जो भी दरवाजा खोलता था उसे वो मार डालती थी. अब ये सोचने वाली बात हो सकती है कि लोग उसके आने पर दरवाजा खोलते ही क्यों थे? दरअसल वो डायन जिस घर का दरवाजा खटखटाती थी उस घर के लोगों के जान-पहचान वालों की आवाजों में बोलती थी. इससे उसका काम और आसान हो जाता था.

वहां के निवासियों ने उस डायन से निजाद पाने की एक तरकीब निकाली. वे अपने घर के बाहर नाले बा लिखते थे. इसका हिंदी में मतलब होता है कल आना. ऐसा पढ़ कर वो चुड़ैल चली जाती थी और दूसरे दिन वापस आती थी. जैसे-जैसे समय बीतता गया वैसे डायन का डर लोगों के जेहन से निकलता गया. समय के साथ सब कुछ पहले की तरह नॉर्मल हो गया.

स्त्री फिल्म की बात करें तो फिल्म की कहानी मध्यप्रदेश के चंदेरी की है. ये कहानी एक डायन की है जो नवरात्री के चार दिन पहले आती है. पहले वो आदमियों को अपने चंगुल में फंसाती है और उसके बाद रात में उनका कत्ल कर देती है. फिल्म में श्रद्धा कपूर और राजकुमार राव मुख्य किरदारों में हैं. फिल्म  ने अपनी रिलीज के पहले दिन ही 6.82 करोड़ की कमाई कर ली है.

Read more!

RECOMMENDED