'6 महीने के बच्चे को कुत्ते से कटवाते थे', KBC में कर्मवीर सुनीता ने सुनाई कहानी

सुनीता कृष्णन ने केबीसी 11 के स्पेशल कर्मवीर एपिसोड में हिस्सा लिया. इस दौरान उन्होंने बताया कि वे किस तरह से रेस्क्यू करती हैं और इस दौरान कैसे दर्दनाक इंसिडेंट का सामना करना पड़ता है.

अमिताभ बच्चन
aajtak.in
  • नई दिल्ली,
  • 19 अक्टूबर 2019,
  • अपडेटेड 7:20 AM IST

कौन बनेगा करोड़पति के कर्मवीर एपिसोड में समाज सेविका सुनीता कृष्णन ने दस्तक दी. सुनीता ने कई सारी बच्चियों और महिलाओं को यौन तस्करी से मुक्त कराया. सुनीता ने ये भी साझा किया कि वे इस टास्क को कैसे अंजाम देती हैं. साथ ही इस दौरान उन्हें कैसी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है.

उन्होंने बताया कि रेस्क्यू का काम बहुत स्पेशिएलाइज्ड होता है. पुलिस मदद करती है. मगर इसके लिए सिर्फ दमखम ही नहीं चाहिए बल्कि शार्प माइंड भी होना चाहिए. रेस्क्यू का काम काफी रिस्की होता है.  सब कुछ प्रेजेंस ऑफ माइंड पर निर्भर करता है. कई वैश्यालयों या ऐसी जगह पर जहां इस तरह के कामों को अंजाम दिया जा रहा है, सभी लड़कियों को निकालना बहुत मुश्किल होता है. सुनीता ने एक किस्सा शेयर करते हुए कहा कि कई बार लड़कियां हमारे साथ चलना नहीं चाहतीं क्योंकि ट्रैफिकर्स के पास लड़कियों की तस्वीरें और वीडियो होते थे.

एक रेस्क्यू के दौरान एक 13 साल की लड़की ने पलंग का एक सिरा पकड़ लिया और वो वहां से नहीं जाना चाहती थी. जब इस बारे में उससे पूछा गया तो पता चला कि ट्रैफिकर्स के पास उस लड़की का 6 महीने का बच्चा है. जब बच्चे को ढूंढ़ा गया तो वाटर टैंक में मिला. बच्चे के बदन पर कई सारे निशान मिले. पीड़िता ने बताया कि अगर वे उनका कहना नहीं मानती है तो फिर उस 6 महीने के बच्चे को कुत्ते से कटवाते हैं. ये सुनकर शो के होस्ट अमिताभ बच्चन समेत ऑडिएंस चकित रह गई.

सुनीता का महिलाओं को संदेश

सुनीता 22000 से भी ज्यादा बच्चियों को वैश्यावृति के दलदल से बाहर निकाल चुकी हैं. उन्होंने सभी को संदेश देते हुए कहा- ''जो भी लड़कियां यौन उत्पीड़न से पीड़त रही हैं उन्हें अपने मन में हीन भावना नहीं लानी चाहिए. उन्हें मजबूती से समाज के सामने खड़े होना चाहिए और ये सोचना चाहिए कि कैसे वे अपनी स्थिति को सुधार सकती हैं. साथ ही कैसे वे अपने इस आक्रोश को हथियार बनाकर यौन उत्पीड़न की शिकार हुईं महिलाओं की मदद कर सकती हैं.'' सुनीता को उनके सराहनीय काम के लिए भारत सरकार द्वारा पद्मश्री से भी सम्मानित किया जा चुका है.

Read more!

RECOMMENDED