GST: एंटरटेनमेंट टैक्स कम होने से खि‍ले सिनेमा प्रेमियों के चेहरे

1 जुलाई से लगने वाले जीएसटी ने सिनेमा के दीवानों के चेहरे खिला दिए हैं. जीएसटी लागू होने के बाद इंटरटेनमेंट टैक्स कम हो जाएगा जिसकी वजह से दिल्ली और एनसीआर में टिकट के रेट कम हो जाएंगे.

इंटरटेनमेंट टैक्स
स्वाति रस्तोगी
  • नई दिल्ली,
  • 29 जून 2017,
  • अपडेटेड 9:25 AM IST

सिने प्रेमियों के लिए अच्छी खबर है. 1 जुलाई से लगने वाले जीएसटी ने सिनेमा के दीवानों के चेहरे खिला दिए हैं. जीएसटी लागू होने के बाद इंटरटेनमेंट टैक्स कम हो जाएगा जिसकी वजह से दिल्ली और एनसीआर में टिकट के रेट कम हो जाएंगे. केंद्र सरकार 1 जुलाई से जीएसटी लागू करने का लक्ष्य रखा है. कुछ दिन बाद से ही देश भर में गुड्स और सर्विस टैक्स लागू हो जाएगा. इससे कुछ चीजें महंगी होंगी तो कुछ सस्ती. अगर आप भी उनमें से हैं जिनको सिनेमा का क्रेज है तो ये खबर आपके चेहरे पर खुशी जरुर ले आएगी.

बता दें कि जीएसटी लगने के बाद दिल्ली और एनसीआर में सिनेमा के टिकट सस्ते हो जाएंगे. स्पाइस सिनेमा के जीएम राकेश ने बताया कि टिकट के दाम जरुर कम होंगे, ऑडियन्स का जो टिकट का खर्चा होता था वो कहीं ज्यादा होता था क्योंकि हर राज्य अपने हिसाब से इंटरटेंनमेंट टैक्स लगाता था. हम टिकट के दामों पर काम कर रहे हैं ताकि बतौर मल्टीप्लेक्स लोगों का ज्यादा फुटफॉल आए, ये इंडस्ट्री के लिए वरदान है.

GST से बढ़ सकता है रसोई का खर्च, जानिए क्या सस्ता होगा और क्या महंगा

 

देशभर में जीएसटी लगने से अलग-अलग राज्यों की ओर से लगाया जाने वाला खत्म हो जाएगा. अब सिनेमा थिएटर में फिल्म देखने पर 28 प्रतिशत टैक्स लगेगा. फिलहाल कई राज्यों में सिनेमा हॉल पर फिल्मों पर 100 पर्सेंट तक इंटरटेनमेंट टैक्स लगता है. इस तरह जीएसटी लागू होने के बाद इंटरटेनमेंट सर्विसेस पर टैक्स का बोझ कम हो जाएगा. यानि कि अगर एक टिकट पर आपको 200 रुपए तक खर्च करने पड़ते थे अब उसी टिकट के लिए आपको 150 रुपए देने होंगे.

वेव सिनेमा नोएडा के मैनेजर योगेश ने बताया कि टिकट के रेट्स में जरुर फर्क आएगा आप दिल्ली में ही देख लीजिए साउथ दिल्ली के रेट और बाकी दिल्ली के रेट्स में काफी फर्क है. जीएसटी सभी सिनेमा हॉल्स एक ही टैक्स स्लैब में आ जाएंगे. अपने परिवार के साथ फिल्म देखने पहुंचे प्रेम किशोर ने बताया कि ये अच्छी बात है, अब लोग ज्यादा से ज्यादा फिल्में देख पाएंगे जो पहले महंगे टिकटों के चलते नहीं देख पाते थे.

वहीं एक और सिने लवर सुमन ने बताया कि पूरे परिवार के साथ एक फिल्म देखने का खर्चा 2000 रुपए से ऊपर जाता था, इसके अलावा पॉपकॉर्न और कोल्ड ड्रिंक का खर्चा अलग से. जीएसटी से अब थोड़े पैसे बच जाया करेंगे.

फिल्म डायरेक्टर सुनील दर्शन ने भी जीएसटी का स्वागत किया. सुनील ने बताया कि केंद्र सरकार की तरफ से ये अच्छा कदम है, अब ज्यादा से ज्यादा लोग सिनेमा देख पाएंगे. अब बिंदास बेझिझक सिनेमा हॉल में पॉपकॉर्न और कोल्डड्रिंक के साथ अपनी मनपसंद फिल्म इंज्वॉय कीजिए.

 GST लागू होने के बाद कारोबार पर पड़ेगा ये 11 असर

 

 

Read more!

RECOMMENDED