क्या आशा की तरक्की नहीं चाहती थीं लता? बहन मीनाताई मंगेशकर ने दिया जवाब

आज 28 सितंबर को सुरों की मल्लिका लता मंगेशकर का जन्मदिन है. उन्होंने फिल्म इंडस्ट्री को कई सदाबहार गाने दिए हैं जिसे कोई एक बार सुने तो बार बार सुनना चाहेगा. लता ने 13 साल की उम्र में एक मराठी फिल्म के लिए पहली बार गाना गाया था.

लता मंगेशकर
स्वप्निल सारस्वत
  • मुंबई,
  • 28 सितंबर 2019,
  • अपडेटेड 11:24 AM IST

आज आज 28 सितंबर को सुरों की मल्लिका लता मंगेशकर का जन्मदिन है. उन्होंने फिल्म इंडस्ट्री को कई सदाबहार गाने दिए हैं, जिसे कोई एक बार सुने तो बार बार सुनना चाहेगा. लता ने 13 साल की उम्र में एक मराठी फिल्म के लिए पहली बार गाना गाया था. इसके बाद उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा. लता की छोटी बहन आशा भी मशहूर सिंगर्स की सूची में शामिल हैं. लता पर आरोप लगे हैं कि वह कभी भी नहीं चाहती थीं कि आशा को ज्यादा तरक्की मिले. अब इस आरोप का जवाब लता की बहन मीनाताई मंगेशकर ने एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में दिया है.

मीनाताई से पूछा गया कि लता मंगेशकर पर ये आरोप भी लगते हैं कि वो आशा हो या दूसरे सिंगर उन्हें आगे नहीं बढ़ने देना चाहती थीं. वो इंडस्ट्री में बस अपना आधिपत्य चाहती थीं? इसके जवाब में उन्होंने कहा, ''नहीं. ऐसा बिल्कुल भी नहीं है. एक आर्टिस्ट के जितने चाहने वाले होते हैं उसके दुश्मन भी होते हैं. वो लोग चाहते थे कि ये दोनों बहनें अलग हो जाएं. इसीलिए झगड़ा लगवाते थे''

''लोगों को कुछ तो चाहिए, इसका नाम है इसे बदनाम कर दो. बाकी कुछ नहीं. अब आशा की शादी हो गई तो हमारे घर में तो आकर नहीं रह सकती थीं. दोनों बहनों ने कभी एक दूसरे के बारे में बुरा नहीं सोचा. दोनों का प्यार अभी भी वैसा ही है.''

लता मंगेशकर सब कुछ पा चुकी हैं, लेकिन क्या उनकी कोई हसरत कोई ख्वाहिश बची है? इसके जवाब में मीनाताई ने बताया,'' नहीं, सब कुछ तो मिला है उन्हें, अभी भी उनका नसीब इतना अच्छा है कि हम लोग सब साथ में हैं. लोग कितना भी कुछ कहें  कि आशा दूर हो गई. हम लोग सब साथ में हैं और क्या चाहिए. मैं चाहती हूं कि दीदी सौ साल की हों और हम पर उनका हाथ बना रहे.''

Read more!

RECOMMENDED