राजनाथ पर ओवैसी का तंज, वे नींबू से राफेल की पूजा करते हैं, हम शर्बत बनाते हैं

महाराष्ट्र में चुनाव प्रचार के दौरान AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह पर तंज कसा है. ओवैसी ने कहा है कि वे नींबू से राफेल की पूजा करते हैं लेकिन हम नींबू से शर्बत बनाते हैं और लोगों को प्यास बुझाने के लिए देते हैं.

AIMIM चीफ असद्दुीन ओवैसी (फाइल फोटो-ANI)
आशीष पांडेय
  • मुंबई,
  • 14 अक्टूबर 2019,
  • अपडेटेड 1:26 PM IST

  • नींबू से वो पूजा करते हैं हम शर्बत बनाते हैं-ओवैसी
  • रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह पर ओवैसी का तंज
  • राफेल की शस्त्र पूजा पर सियासत
महाराष्ट्र में चुनाव प्रचार के दौरान AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह पर तंज कसा है. ओवैसी ने कहा है कि वे नींबू से राफेल की पूजा करते हैं लेकिन हम नींबू से शर्बत बनाते हैं और लोगों को प्यास बुझाने के लिए देते हैं.

लोकसभा सांसद और  AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी मुंबई के मुंबा देवी में अपनी पार्टी के उम्मीदवार के लिए प्रचार कर रहे हैं. इस दौरान ओवैसी शिवसेना और उद्धव ठाकरे पर तो बरसे ही उन्होंने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह पर भी हमला बोला. ओवैसी ने कहा, "वे पूजा करने के लिए नींबू रखते हैं, जबकि हम इससे शर्बत बनाते हैं और लोगों को देते हैं. "

बता दें कि रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह 8 अक्टूबर को फ्रांस दौरे पर थे. यहां पर लड़ाकू विमान राफेल को बनाने वाली कंपनी दसॉ एविएशन ने उन्हें पहला लड़ाकू विमान सौंपा. ये पूरी प्रक्रिया फ्रांस के मेरिगनाक में हुई.

राजनाथ ने की थी राफेल की शस्त्र पूजा

राफेल की डिलीवरी लेने के बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने विमान की शस्त्र पूजा की थी. इस दौरान उन्होंने विमान पर ओम लिखा था, नारियल फोड़ा था और राफेल विमान के टायर के नीचे नींबू रखा था.

कांग्रेस ने की थी निंदा

कांग्रेस समेत कई दलों ने राजनाथ सिंह के इस कदम की निंदा की थी. कांग्रेस नेता संदीप दीक्षित ने कहा था कि विजयादशमी को राफेल एयरक्राफ्ट से जोड़ना ठीक नहीं है. उन्होंने कहा था कि राफेल विमान को एक त्यौहार से क्यों जोड़ा जा रहा है? संदीप दीक्षित ने कहा कि इस सरकार के साथ यही समस्या है वे किसी भी कार्यक्रम को नाटकीय अंदाज देते हैं, जबकि कुछ करते नहीं हैं.

हालांकि राजनाथ सिंह ने शस्त्र पूजा का बचाव किया और कहा कि हम ऐसा बचपन से देखते आए हैं और ये हमारे संस्कार में शामिल है. उन्होंने कहा कि जब वो राफेल की पूजा कर रहे थे तो वहां पर मुस्लिम, क्रिश्चयन समेत दूसरे धर्मों के प्रतिनिधि भी मौजूद थे.

Read more!

RECOMMENDED