झारखंड में होंगी पीएम मोदी की 8 रैलियां, आदिवासी बहुल पलामू से करेंगे आगाज

बीजेपी ने झारखंड विधानसभा चुनाव प्रचार के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 8 रैलियां कराने की रूप रेखा तैयार की है. पीएम मोदी झारखंड के आदिवासी बहुल पलामू इलाके से चुनाव प्रचार अभियान की शुरुआत कर बड़ा सियासी दांव चल सकते हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सीएम रघुवर दास
हिमांशु मिश्रा
  • नई दिल्ली,
  • 13 नवंबर 2019,
  • अपडेटेड 2:52 PM IST

  • झारखंड में बीजेपी का मिशन 65 प्लस पर फोकस
  • झारखंड में पीएम मोदी की 8 रैलियों का प्रोग्राम

झारखंड विधानसभा चुनाव की सियासी जंग फतह करने की बीजेपी ने पूरी तैयारी कर ली है. बीजेपी ने विधानसभा चुनाव प्रचार के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 8 रैलियां कराने की रूप रेखा तैयार की है. पीएम मोदी झारखंड के आदिवासी बहुल पलामू इलाके से चुनाव प्रचार अभियान की शुरुआत कर बड़ा सियासी दांव चल सकते हैं.

सूत्रों की मानें तो पीएम मोदी अगले सप्ताह से झारखंड के सियासी रण में उतरकर चुनावी प्रचार की शुरुआत कर सकते हैं. झारखंड में पीएम की 8 रैलियां कराने की तैयारी की गई है. पीएम मोदी झारखंड में चार दिन धुआंधार धार रैलियां कर बीजेपी के पक्ष में माहौल बनाएंगे. ऐसे में नरेंद्र मोदी एक दिन में दो चुनावी रैलियों को संबोधित करेंगे.

झारखंड में करीब 26 फीसदी आदिवासी समुदाय का वोटर है, जो राजनीतिक दलों का सियासी समीकरण बनाने और बिगाड़ने की ताकत रखता है. इसी रणनीति के तहत झारखंड के पलामू से पीएम मोदी अपने चुनाव प्रचार की शुरुआत कर सकते हैं.

पीएम की चुनावी रैलियों की शुरुआत नवंबर के अंतिम हफ्ते से हो सकती है. हालांकि पीएम का कार्यक्रम अभी तय नहीं हुआ है. बीजेपी ने झारखंड में 65 प्लस सीटें जीतने का टारगेट रखा है. इसके लिए बीजेपी कोई कोर -कसर नहीं छोड़ना चाहती है. इसी के तहत बीजेपी झारखंड में नरेंद्र मोदी से ज्यादा से ज्यादा सीटों पर चुनाव प्रचार करा सकती है.  

झारखंड की कुल 81 विधानसभा सीटों में से 28 सीटें अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित हैं. 2014 के विधानसभा चुनाव में अनुसूचित जनजातियों के लिए आरक्षित 28 सीटों में से बीजेपी और झारखंड मुक्ति मोर्चा को 13-13 सीटें हासिल हुई थीं. जबकि दो सीटों पर अन्य उम्मीदवार विजयी हुए थे.

बता दें कि झारखंड में बीजेपी ने विधानसभा चुनाव में 65 से अधिक सीटें जीतने का टारगेट रखा है. जबकि बीजेपी 2014 के विधानसभा चुनाव में 37 सीटें ही जीती थी. बीजेपी के सहयोगी आजसू को 5 सीटें मिली थीं. बीजेपी को 2014 के चुनाव में 31.3 प्रतिशत वोट मिले थे.

Read more!

RECOMMENDED