सुरजेवाला बोले- अशोक तंवर के जाने से पार्टी को नुकसान, वापसी जरूरी

राहुल गांधी के विदेश जाने पर रणदीप सिंह सुरजेवाला का कहना है कि मुझे नहीं पता पत्रकारों को राहुल गांधी के ट्रैवल प्लान में क्या रुचि है. वह कहां जाते हैं, किसी को क्या फर्क पड़ता है. हमारे सबके नेता राहुल गांधी आज भी है.

रणदीप सुरजेवाला से aajtak.in की खास बातचीत (फाइल फोटो-ANI)
अशोक सिंघल
  • कैथल, हरियाणा.,
  • 09 अक्टूबर 2019,
  • अपडेटेड 6:32 AM IST

  • अशोक तंवर की पार्टी में वापसी जरूरी
  • पार्टी छोड़कर जाने से होता है नुकसान
  • राहुल गांधी के ट्रैवल प्लान में रुचि क्यों?
कांग्रेस के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी और कैथल से प्रत्याशी रणदीप सिंह सुरजेवाला ने अशोक तंवर को लेकर बड़ा बयान दिया है. सुरजेवाला ने अशोक तंवर के पार्टी छोड़कर जाने को पार्टी के लिए नुकसान बताया है. रणदीप सिंह सुरजेवाला का कहना है कि उनको पार्टी में वापस लाया जाना चाहिए. इसके लिए कुमारी शैलजा और भूपेंद्र सिंह हुड्डा को अशोक तंवर से बात करनी चाहिए.

आज तक से खास बातचीत में रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि अगर एक भी साथी अगर छोड़कर जाए तो नुकसान होता है. अशोक तंवर जी लंबे समय तक कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष रहे हैं. कुछ वैचारिक मतभेद था जो मनभेद में बदल गया.  मुझे लगता है कि नए सिर से उनको दोबारा से पार्टी में समाहित करने के लिए बात की जानी चाहिए. इसकी जिम्मेदारी शैलजा और भूपेंद्र सिंह हुड्डा की है.

पूरी पार्टी लड़ रही चुनाव

राहुल गांधी के विदेश जाने पर रणदीप सिंह सुरजेवाला का कहना है कि मुझे नहीं लगता पत्रकारों को राहुल गांधी के ट्रैवल प्लान में क्या रुचि है. वह कहां जाते हैं, किसी को क्या फर्क पड़ता है. हमारे सबके नेता राहुल गांधी आज भी है. वह कहां जाते हैं. क्या फर्क पड़ता है. चुनाव हम सब मिलकर चुनाव लड़ रहे हैं. पूरी पार्टी चुनाव लड़ रही है.

बीजेपी में कांग्रेस से ज्यादा मतभेद

पार्टी में एकजुटता के सवाल पर रणदीप सिंह सुरजेवाला का कहना है कि जब टिकट वितरण होता है कि थोड़ा- बहुत अनबन होता है. लेकिन भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) को देखिए. विपुल गोयल और रणवीर सिंह को देखिए, उन दोनों का टिकट काट दिया गया. कुछ और लोग नाराज थे. एक दर्जन विधायकों का टिकट काट दिया. बीजेपी में फुटबॉल चरम सीमा पर है. कांग्रेस में इतना मतभेद नहीं है, जितना बीजेपी में है.

हरियाणा चुनाव में सबसे बड़े मुद्दे पर रणदीप सुरजेवाला का कहना है कि सबसे बड़ा मुद्दा भारतीय जनता पार्टी का कुशासन इनका भ्रष्टाचार बेरोजगारी मंदी और तालाबंदी है. पूरा हरियाणा त्राहि-त्राहि कर रहा है. हरियाणा में व्यवसायी, दुकानदार और व्यापारी हर वर्ग कहता है कि धंधा चौपट हो गया है. पूरी सरकार अपनी मनमानी कर रही है. अफसरशाही का बोलबाला है.

जमीन पर कुछ नहीं

रणदीप सिंह सुरजेवाला  का कहना है कि हरियाणा में रोजी-रोटी मुद्दा है, बेरोजगारी मुद्दा है, भ्रष्टाचार के जो खुलासे हुए हैं, वह मुद्दा है. गुंडई और अपराध बढ़ गया है. हर 24 घंटे में 3 मर्डर हो रहे हैं. गुंडाराज हरियाणा के शहरों में दिखाई देता है. मुख्यमंत्री ना सोचते हैं ना कुछ कहते हैं ना बोलते हैं. तो ऐसे में लोग कैसे सुरक्षित महसूस करेंगे. 75 पार के नारे पर रणदीप सिंह सुरजेवाला का कहना कि यह जमीन पर कुछ नहीं करते हैं. इनकी सारी चीजें ऑनलाइन है यानी कि हवा हवाई हैं.

Read more!

RECOMMENDED