मोदी सरकार का गोरखा - पूर्वोत्तर के ST युवाओं को तोहफा, भर्ती में मिलेगी छूट

गोरखा और पूर्वोत्तर के राज्यों में रहने वाले अनुसूचित जनजाति के युवाओं को केंद्रीय सशस्त्र बल में चयन के लिए निर्धारित कद में 5 सेमी की रियायत दी गई है.

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू (फोटो क्रेडिट- ट्विटर)
विशाल कसौधन
  • नई दिल्ली,
  • 29 नवंबर 2018,
  • अपडेटेड 11:49 PM IST

मोदी सरकार ने गोरखा और पूर्वोत्तर के राज्यों में रहने वाले अनुसूचित जनजाति के युवाओं को बड़ा तोहफा दिया है. इन युवाओं को केंद्रीय सशस्त्र बल में चयन के लिए निर्धारित कद में 5 सेमी की रियायत दी गई है.

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू ने शासनादेश की प्रति को ट्वीट करते हुए लिखा कि गृह मंत्रालय ने एक ऐतिहासिक फैसला लिया है. केंद्रीय सशस्त्र बल की नियुक्ति में गोरखा और पूर्वोत्तर राज्यों के अनुसूचित जनजाति के युवाओं के साथ हो रहे भेदभाव को खत्म कर दिया गया. अब इसका फायदा हजारों युवाओं को मिलेगा.

शासनादेश के अनुसार,  अब गोरखा या पूर्वोत्तर राज्यों में रहने वाले अनुसूचित जनजाति के युवाओं को केंद्रीय सशस्त्र बल में सब इंस्पेक्टर और सीआईएसफ में एएसआई बनने के लिए मानक कद क्रमश: 165 सेमी और 162.5 सेमी को अब 157 सेमी कर दिया गया है. वहीं, कांस्टेबल के लिए मानक कद 162.5 सेमी को भी 157 सेमी कर दिया गया है.

Read more!

RECOMMENDED