UP के गोंडा में छेड़छाड़ से तंग आकर युवती ने लगाई फांसी, पुलिस पर लापरवाही का आरोप

उत्तर प्रदेश के गोंडा में 18 वर्षीय युवती ने छेड़छाड़ से तंग आकर फांसी लगा ली. उसका शव कमरे में दुपट्टे से लटकता मिला. युवती के कमरे से एक सुसाइड नोट भी मिला है, जिसमें उसने आत्महत्या किए जाने की वजह का जिक्र किया है.

फांसी से तंग आकर युवती ने लगाई फांसी (प्रतीकात्मक तस्वीर)
aajtak.in
  • नई दिल्ली,
  • 01 अगस्त 2019,
  • अपडेटेड 10:28 AM IST

उत्तर प्रदेश के गोंडा में 18 वर्षीय युवती ने शोहदों की छेड़छाड़ से तंग आकर फांसी लगा ली. उसका शव कमरे में दुपट्टे से लटकता मिला. मौके पर पंहुची पुलिस ने शव को कब्जे मे लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. युवती के कमरे से एक सुसाइड नोट भी मिला है, जिसमें उसने आत्महत्या करने की वजह का जिक्र किया है. चौंकाने वाली बात यह है कि पीड़िता ने मौत की वजह अपने भाई कल्लू को ही बताया है.

वहीं, युवती के पिता का आरोप है कि इस मामले को लेकर उसकी बेटी ने दो महीने पहले पुलिस अधीक्षक से शिकायत कर मनचलों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी, लेकिन पुलिस ने कार्रवाई करना तो दूर उसकी एफआईआर तक दर्ज नहीं की. उत्तर प्रदेश की योगी सरकार भले ही महिलाओं और बेटियों की सुरक्षा का दावा करती हो और इनकी सुरक्षा के लिए एंटी रोमियो स्क्वायड का गठन कर रखा हो लेकिन धरातल पर न तो एंटी रोमियो स्क्वायड का असर दिख रहा है. न ही सरकार अपने महिला सुरक्षा के दावे पर खरा उतर पा रही है.

ताजा मामला गोंडा जिले के कोतवाली नगर क्षेत्र के पंतनगर का है जहां शोहदों से परेशान होकर एक 18 वर्षीय युवती ने अपने घर मे फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली. मृतका का शव उसके दुपट्टे के सहारे उसके कमरे में लटकता मिला. मौके पर पहुंची पुलिस युवती के शव को कब्जे में लेकर कानूनी कार्रवाई मे जुट गई है.

मृतका के पिता तिलकराम का कहना है कि पड़ोस में रहने वाला एक युवक मृतका को पिछले कुछ महीनों से लगातार परेशान कर रहा था. इस मामले को लेकर मृतका ने पुलिस अधीक्षक व नगर कोतवाली मे शिकायत की थी, लेकिन पुलिस ने इस शिकायत पर कार्रवाई करना तो दूर उसकी रिपोर्ट तक नहीं दर्ज की. नतीजा यह रहा कि छेड़छाड़ की हरकतों से तंग आकर पीड़िता ने फांसी लगाकर अपनी जान दे दी.

Read more!

RECOMMENDED