UP में छात्रवृत्ति घोटाला, अरबों की हेराफेरी, कई अधिकारियों पर केस दर्ज

उत्तर प्रदेश के उन्नाव में छात्रवृत्ति घोटाले का खुलासा हुआ है. जिले के 10 ब्लॉकों में छात्रवृत्ति घोटाले में अरबों रुपयों की हेराफेरी करने का मामला सामने आया है.

सांकेतिक तस्वीर
शिवेंद्र श्रीवास्तव
  • उन्नाव,
  • 10 अक्टूबर 2019,
  • अपडेटेड 10:34 AM IST

  • उन्नाव के 10 ब्लॉकों में छात्रवृत्ति घोटाले का मामला
  • आर्थिक अपराध अनुसंधान ने दर्ज किए 10 मुकदमे

उत्तर प्रदेश के उन्नाव में छात्रवृत्ति घोटाला मामले में अब कई अधिकारियों पर केस दर्ज किया गया है. इस छात्रवृत्ति घोटाले में जिले के 10 ब्लॉकों में अरबों रुपयों की हेराफेरी की गई.

आर्थिक अपराध अनुसंधान (ईओडब्ल्यू) की जांच में पाया गया कि फर्जी लोगों को छात्रवृत्ति दे दी गई थी. इस मामले में 10 जिला समाज कल्याण अधिकारियों और 2 पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारियों पर मुकदमा दर्ज किया गया है.

जांच में पाया गया कि प्रधानाचार्य, ग्राम प्रधान, पंचायत सचिव और अफसरों ने इस घोटाले को अंजाम दिया. उन्होंने मिलकर छात्रवृत्ति के पैसों की हेराफेरी की. इससे पहले 2012 में भी छात्रवृत्ति घोटाले में 8 लोगों को गिरफ्तार किया गया था.

दरअसल, उत्तर प्रदेश में 2001 से 2010 के बीच कई जिलों में छात्रवृत्ति घोटाला हुआ. सिर्फ मेरठ और इटावा में ही 15 करोड़ रुपयों से ज्यादा की हेराफेरी का मामला सामने आया था. छात्रवृत्ति घोटाला में करीब तीन साल पहले ही सरकार ने ईओडब्ल्यू को जांच सौंपी थी.

Read more!

RECOMMENDED