UP एटीएस का दावा- देवबंद से जैश के 2 आतंकी गिरफ्तार

Jaish E Mohammad Terrorist जैश ए मोहम्मद के आतंकी शाहनवाज अहमद तेली को गिरफ्तार किया है, जो कि कश्मीर के कुलगाम का रहने वाला है. बताया जा रहा है कि शाहनवाज का काम नए आतंकियों की भर्ती करना था. उत्तर प्रदेश की एंटी टेररिस्ट स्क्वॉड ने 2 लोगों को गिरफ्तार किया है.

देवबंद से गिरफ्तार किए गए शाहनवाज अहमद तेली और आकिब अहमद (फोटो-शिवेंद्र)
अरविंद ओझा/मुनीष पांडे
  • लखनऊ,
  • 22 फरवरी 2019,
  • अपडेटेड 4:43 PM IST

जम्मू-कश्मीर में 14 फरवरी को पुलवामा में हुए राज्य के सबसे बड़े आतंकी हमले के बाद देश की सुरक्षा एजेंसियां सतर्क हैं. इसी कड़ी में शुक्रवार को उत्तर प्रदेश की एंटी टेररिस्ट स्क्वॉड (ATS) ने बड़ी कार्रवाई करते हुए देवबंद से 2 आतंकियों को गिरफ्तार कर लिया है. गिरफ्तार किए गए आतंकियों का काम जैश-ए-मोहम्मद के लिए नए आतंकियों की भर्ती कराना था. गिरफ्तारी के बाद उत्तर प्रदेश के डीजीपी ओपी सिंहने बताया कि उनके पास बड़ी मात्रा में आपत्तिजनक सामग्री भी बरामद की गई है.

2 संदिग्धों की गिरफ्तारी के बाद उत्तर प्रदेश के डीजीपी ओपी सिंह ने शुक्रवार को पीसी कर बताया कि देवबंद से 2 आतंकियों को गिरफ्तार किया गया है. गिरफ्तार किए गए आतंकियों के नाम हैं शाहनवाज अहमद तेली और आकिब अहमद. ये दोनों ही बगैर एडमिशन के देवबंद में रह रहे थे. इनके पास से .32 बोर की गन और गोलियां मिली हैं. साथ ही दोनों के पास से जिहादी ऑडियो, वीडियो और लिखित सामग्री भी बरामद हुई है. इन संदिग्ध लोगों को ट्रॉजिक्ट रिमांड पर लिया जा रहा है.

डीजीपी ने बताया कि जैश आतंकी शाहनवाज अहमद तेली कश्मीर के कुलगाम का रहने वाला है जबकि आकिब अहमद पुलवामा का रहने वाला है. हम इनके बाकी साथियों की तलाश कर रहे हैं.

टॉरगेट पर हो रही जांच

उन्होंने कहा कि शाहनवाज लंबे समय से जैश के नेटवर्क के लिए भर्ती करने का काम कर रहा था. देवबंद में भी नई भर्ती के लिए कई लड़कों के संपर्क में था. इस बात की जांच की जा रही है कि इन लोगों ने अब तक कितने लोगों की भर्ती कराई है और उनका टॉरगेट क्या था. पकड़े गए लोगों के बारे में ज्यादा खुलासा बाद में होगा. गिरफ्तार किए गए लोगों की उम्र 20-25 साल के बीच बताई जा रही है.

लखनऊ में डीजीपी ओपी सिंह ने बताया कि आतंकी शाहनवाज अहमद तेली का काम आतंकियों की भर्ती कराना था. उसका शुरुआती काम लोगों का ब्रेनवॉश कराने का भी था. वह ग्रेनेड इस्तेमाल में एक्सपर्ट है. इस कार्रवाई में हम जेके पुलिस के साथ लगातार संपर्क में रहे. हमारी टीम ने बेहद शानदार काम किया है और आगे चलकर टीम को सम्मानित किया जाएगा.

सहारनपुर में कब से रह रहे हैं, इस सवाल के बारे में डीजीपी ने बताया कि हम इसकी जांच कर रहे हैं और जांच के बाद यह साफ हो पाएगा.

देवबंद के छात्रों में गुस्सा

जैश के इस मॉड्यूल को पकड़ने के लिए यूपी एटीएस ने गुरुवार को सहारनपुर के देवबंद में छापेमारी की थी. कई घरों और हॉस्टल्स में तलाशी ली गई. इस तलाशी में पुलिस ने काफी मात्रा में संदिग्ध सामग्री भी बरामद की गई है. एटीएस की छापेमारी में देवबंद के छात्रों में गुस्सा है.

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को आतंकी हमला हुआ था. ये हमला जैश-ए-मोहम्मद के आत्मघाती हमलावर ने किया था, जिसमें भारत के 40 जवान शहीद हुए थे. जिस आतंकी ने हमला किया वह जम्मू-कश्मीर का ही रहने वाला आदिल अहमद डार था.

आपको बता दें कि यूपी एटीएस इससे पहले भी कई आतंकियों को गिरफ्तार कर चुकी है. इससे पहले यूपी एटीएस ने ISIS के तर्ज पर बनाए जा रहे मॉड्यूल का भांडा फोड़ किया था.

Read more!

RECOMMENDED