राजस्थानः पुलिसवाला बनकर नाबालिग से किया था गैंगरेप, 3 गिरफ्तार

राजस्थान में नाबालिग छात्रा से गैंगरेप के बाद उसकी मौत की गुत्थी को सुलझाते हुए पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है. घटना का मुख्य आरोपी पुलिस वाला होने का ढोंग कर मृतका को झांसा देकर उसके साथ शारीरिक संबंध बनाता था.

झांसा देकर छात्रा से बनाता था शारीरिक संबंध
राहुल सिंह
  • भरतपुर,
  • 30 जनवरी 2017,
  • अपडेटेड 9:22 AM IST

राजस्थान में नाबालिग छात्रा से गैंगरेप के बाद उसकी मौत की गुत्थी को सुलझाते हुए पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है. घटना का मुख्य आरोपी पुलिस वाला होने का ढोंग कर मृतका को झांसा देकर उसके साथ शारीरिक संबंध बनाता था.

भरतपुर स्थित चिमनी कुम्हेर निवासी मोहन सिंह (40 वर्ष) वारदात का मुख्य आरोपी है. मोहन सिंह विवाहित है और उसका एक बेटा भी है. 12वीं में पढ़ने वाली छात्रा और मोहन सिंह के बीच प्रेम संबंध थे. पुलिस ने दावा किया कि युवती की हत्या नहीं हुई बल्कि उसने आत्महत्या की है. युवती प्यार में धोखा मिलने के बाद ट्रेन से कटकर आत्महत्या करना चाहती थी.

ट्रेन से टकराने के बाद उसके सिर में चोट लग गई, जिससे उसकी मौत हो गई. पुलिस ने बताया कि घटना से पहले आरोपियों ने युवती के साथ गैंगरेप करने के बाद रात तकरीबन 11 बजे उसे खांगरी रेलवे फाटक के पास छोड़ दिया था. पुलिस ने खुलासा किया कि मोहन सिंह ने गैंगरेप के दौरान पीड़िता का वीडियो भी बनाया था.

पुलिस की मानें तो मृतका और मोहन सिंह के बीच वीडियो डिलीट करने को लेकर कहासुनी भी हुई थी. एसपी कैलाश विश्नोई ने बताया कि 26 जनवरी को नदबई निवासी 12वीं कक्षा की छात्रा का अपहरण कर हत्या करने का मामला दर्ज किया गया था. जिसके बाद पुलिस ने रविवार को आरोपी मोहन सिंह, सोनू और गजेंद्र उर्फ गज्जू को गिरफ्तार कर लिया.

Read more!

RECOMMENDED