दलित नाबालिग प्रेमी को कैफे में बुलाया, लड़की के रिश्तेदारों ने कर दिया ऐसा हाल

घटना जोधपुर की है. जहां लड़की ने लड़के को फोन कर कैफे में मिलने के लिए बुलाया. जैसे ही नाबालिग लड़का कैफे में पहुंचा तो पहले से वहां मौजूद कुछ युवकों ने लड़के के साथ मारपीट की.

नाबालिग प्रेमी के साथ हुई मारपीट
अशोक शर्मा
  • जोधपुर,
  • 20 फरवरी 2020,
  • अपडेटेड 10:37 AM IST

  • जोधपुर में दलित नाबालिग प्रेमी के साथ हुई मारपीट
  • लड़की ने कैफे में मिलने के लिए प्रेमी को बुलाया था

राजस्थान में एक दलित नाबालिग प्रेमी को अपने ही मोहल्ले की लड़की से प्रेम करना भारी पड़ गया. मामले में लड़की ने दलित नाबालिग लड़के को कैफे में बुलाया, जिसके बाद कुछ युवकों ने वहां पर लड़के के साथ मारपीट की.

घटना जोधपुर के देव नगर थाना बलदेव नगर इलाके की है. जहां लड़की ने लड़के को फोन कर कैफे में मिलने के लिए बुलाया. जैसे ही नाबालिग लड़का कैफे में पहुंचा तो पहले से वहां मौजूद कुछ युवकों ने लड़के के साथ मारपीट की. इसके बाद चाकू की नोक पर जबरन लड़की के घर ले जाकर लड़के का मुंडन भी कर दिया.

पीड़ित लड़के का आरोप है कि आरोपी करीब दो घंटे तक उसके साथ लाठी डंडों से मारपीट करते रहे. इसके बाद उसके परिजनों को बुलाकर सुधरने की नसीहत देकर छोड़ दिया.

यह भी पढ़ें: मक्का पिसवाने गई महिला के साथ दरिंदगी, रेप के बाद फोड़ी आंख

जानकारी के मुताबिक बलदेव नगर में एक नाबालिग का मोहल्ले की ही लड़की से प्रेम प्रसंग चल रहा था. नाबालिग लड़के के पास लड़की का फोन आया और उसने उसे कैफे में बुलाया. इस दौरान जैसे ही वह लड़की से मिलने कैफे में पहुंचा तो वहां लड़की के रिश्तेदारों ने नाबालिग के साथ मारपीट के अलावा लड़की के साथ आई युवती से भी मारपीट की.

धमकी दी

पीड़ित लड़के के मुताबिक चाकू की नोक पर जबरन उसे बाइक पर लड़की के घर ले गए. जहां आरोपी युवकों ने न केवल उसके साथ बल्कि लड़की के साथ रही युवती से भी घर मे बंधक बनाकर मारपीट की. वहीं रमेश नामक युवक पास के सैलून की दुकान से मशीन लेकर आया और लड़के के बाल काट दिए. इसके बाद लड़के के परिजनों को बुलाकर उसे मारने की धमकी दी. साथ ही सुधर जाने की नसीहत देकर परिजनों के साथ घर भेज दिया.

यह भी पढ़ें: छेड़छाड़ से परेशान छात्रा ने Exam में मांगी सुरक्षा, बदमाश चाकू दिखा देते हैं गाली

इस बीच पीड़ित के चाचा ने देव नगर थाना पुलिस को सूचना दी, लेकिन परिजनों ने डर के मारे पुलिस को कोई कार्रवाई नहीं करने की बात भी कही. पीड़ित के पिता का कहना है कि वह गरीब है और रोज कमाकर रोज खाने वाले हैं. जबकि लड़की के पिता की ऊंची पहुंच है. ऐसे में डर के मारे वह पुलिस में नहीं गए. वहीं इस मामले में अभी तक दोनों पक्षो की ओर से पुलिस में रिपोर्ट दर्ज नहीं करवाई गई है.

Read more!

RECOMMENDED