प्रद्युम्न मर्डर: आरोपी छात्र के पिता बोले- मेरे बेटे को फंसा रही है CBI

सीबीआई ने प्रद्युम्न मर्डर केस में 11 वीं के एक छात्र को हिरासत में लिया है. उसे दोपहर को सीबीआई ज्यूवेनाइनल कोर्ट में पेश करेगी. तय करेगी उसके साथ माइनर या मेजर किस तहत कार्रवाई की जाए. उस पर प्रद्युम्न की हत्या का शक है. आरोपी छात्र के पिता ने आरोप लगाया है कि उसके बेटे को फंसाया जा रहा है. उसे जल्दबाजी में पकड़ा गया है.

प्रद्युम्न मर्डर केस में एक नया मोड़
मुकेश कुमार
  • गुड़गांव,
  • 08 नवंबर 2017,
  • अपडेटेड 11:53 AM IST

सीबीआई ने प्रद्युम्न मर्डर केस में 11 वीं के एक छात्र को हिरासत में लिया है. उसे दोपहर को सीबीआई ज्यूवेनाइनल कोर्ट में पेश करेगी. तय करेगी उसके साथ माइनर या मेजर किस तहत कार्रवाई की जाए. उस पर प्रद्युम्न की हत्या का शक है. आरोपी छात्र के पिता ने आरोप लगाया है कि उसके बेटे को फंसाया जा रहा है. उसे जल्दबाजी में पकड़ा गया है.

आरोपी छात्र के पिता ने बताया कि सीबीआई ने उसके बेटे से हत्या के मामले में पूछताछ की थी. उनका दावा है कि उन्हीं के बेटे ने सबसे पहले रेयान स्कूल के माली को प्रद्युम्न की हत्या की बात बताई थी. उनका बेटा निर्दोष है. गुरुग्राम पुलिस भी जांच के दौरान सीआरपीसी की धारा 164 के तहत उसका बयान दर्ज करा चुकी है. आरोपी दूसरी क्लास से स्कूल में पढ़ रहा है.

गुरुग्राम पुलिस ने इस केस में पहले बस कंडक्टर अशोक कुमार को गिरफ्तार किया. उस पर हत्या का शक जताया जा रहा था, लेकिन सीबीआई दूसरे नतीजे पर पहुंचती दिख रही है. करीब दो महीने की जांच के बाद सीबीआई ने रेयान स्कूल में पढ़ने वाले इस छात्र को गिरफ्तार किया है. इससे पहले प्रद्युम्न के पिता वरुण ठाकुर ने भी कहा था बस कंडक्टर असली दोषी नहीं है.

आज से ठीक दो महीने पहले 8 सितंबर को गुडगांव के रेयन इंटरनेशनल स्कूल में सात साल के प्रद्युम्न ठाकुर की हत्या हो गई थी. तब प्रद्युम्न की मां ने चीख चीखकर कहा था कि उसके बेटे के कत्ल में बड़ी साजिश है और कंडक्टर हत्यारा नहीं है. प्रद्युम्न के पिता ने भी तब कहा था कि उन्हें नहीं लगता कि उनके बेटे की हत्या उस बस कंडक्टर ने की है.

बस कंडक्टर अशोक कुमार की पत्नी भी यही कहती रही कि उसके पति को फंसाया गया है. इसके बाद जब अशोक को पुलिस ने कोर्ट में पेश किया, तो उसने भी कहा कि वह निर्दोष है. उसे पुलिस ने फंसाया है. उस पर हत्या का जुर्म कबूल करने के लिए दबाव बनाया गया था. उसके वकीलों ने तो यहां तक कहा कि कबूलनामे के लिए उसे पैसे तक ऑफर किए गए थे.

बताते चलें कि रेयान इंटरनेशनल स्कूल में दूसरी क्लास में पढ़ने वाले 7 साल के छात्र प्रद्युम्न ठाकुर के साथ कुकर्म की कोशिश के बाद उसकी गला रेतकर बेरहमी से हत्या कर दी गई थी. इस मामले में बस कंडक्टर अशोक समेत तीन लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. आरोपी अशोक कुमार ने पहले अपना जुर्म कबूल किया, लेकिन बाद में इंकार कर दिया था.

Read more!

RECOMMENDED