दिल्ली: 10वीं के छात्र की चाकू घोंपकर हत्या, घरवालों का आरोप- समय पर नहीं मिला इलाज

बाहरी दिल्ली के सुल्तानपुरी इलाके में नाबालिग छात्र की चाकू मारकर हत्या कर दी गई. मामला बीती रात का है. वहीं, मृतक छात्र के परिवारवाले का आरोप है कि संजय गांधी अस्पताल में उनके बच्चे का समय से इलाज नहीं हो पाया, जिस कारण उसकी मौत हो गई.

छात्र की हत्या (Photo- AajTak)
अनुज मिश्रा
  • नई दिल्ली,
  • 01 सितंबर 2019,
  • अपडेटेड 10:59 PM IST

  • नाबालिग छात्र की चाकू मारकर हत्या
  • अस्पताल में इलाज के दौरान मौत
  • आरोप- समय पर नहीं मिला इलाज

बाहरी दिल्ली के सुल्तानपुरी इलाके में नाबालिग छात्र की चाकू मारकर हत्या कर दी गई. मामला शनिवार रात का है. वहीं, मृतक छात्र ऋतिक के परिवारवालों का आरोप है कि संजय गांधी अस्पताल में उनके बच्चे का समय से इलाज नहीं हो पाया, जिस कारण उसकी मौत हो गई. साथ ही स्थानीय पुलिस की कार्रवाई पर भी पीड़ित परिजनों ने सवाल उठाए हैं.

ऋतिक की आयु 15 साल थी और 10वीं का छात्र था. ऋतिक के पिता ने बताया कि उन्हें बीती रात करीब 8:30 बजे घर से फोन आया. बताया गया कि उनके बेटे ऋतिक का किसी से झगड़ा हो गया है और वो मंगोलपुरी स्थित संजय गांधी अस्पताल में भर्ती है.

जब पिता और अन्य परिजन अस्पताल पहुंचे तो उन्हें डॉक्टर्स ने बताया कि उनके बच्चे की मौत हो चुकी है, जिसके बाद परिवारवालों का आरोप रहा कि समय पर इलाज नहीं मिलने के कारण उसकी मौत हो गई.

परिवारवालों को जानकारी दी गई कि बच्चे की मौत चाकू लगने से हुई है और उसे सीने में चाकू मारा गया है.

घरवालों का कहना था कि शाम को स्कूल से आने के बाद ऋतिक घर पर ही था. शाम करीब 7 बजे के आसपास कोई दो लड़के उसे घर से बुलाकर ले गए, जिसके बाद उनका बेटा वापस नहीं आया.

वहीं, मृतक बच्चे के दादा ने बताया कि उनके बच्चे को घर से कौन बुलाकर ले गया ये तो उन्हें नहीं पता, लेकिन जब पुलिस घर पहुंची तब उन्होंने बताया कि उनके बच्चे का झगड़ा हो गया है और वो अस्पताल में भर्ती है. उन्होंने बताया कि उसका किसी से कोई झगड़ा या किसी तरह का कोई विवाद नहीं था, साथ ही बताया कि ऋतिक पढ़ाई में काफी होशियार था.

Read more!

RECOMMENDED