CM योगी का पहला कोपभाजन बना ये IPS, पत्नी भी छोड़ चुकी है साथ

यूपी की नई योगी सरकार में सस्पेंड होने वाले पहले आईपीएस अधिकारी हिमांशु कुमार सुर्खियों में बने हुए हैं. आईपीएस हिमांशु कुमार ने योगी सरकार के फैसलों पर उंगली उठाते हुए सरकार के खिलाफ ट्वीट किया था. हिमांशु का ट्वीट वायरल होते ही उन्हें सस्पेंड कर दिया गया. 'आजतक' आपको बताने जा रहा है उस आईपीएस ऑफिसर के बारे में जिसने योगी सरकार पर लगाए थे संगीन आरोप.

IPS हिमांशु कुमार को उनके विवादित ट्वीट के बाद सस्पेंड कर दिया गया
राहुल सिंह
  • लखनऊ,
  • 26 मार्च 2017,
  • अपडेटेड 7:53 PM IST

यूपी की नई योगी सरकार में सस्पेंड होने वाले पहले आईपीएस अधिकारी हिमांशु कुमार सुर्खियों में बने हुए हैं. आईपीएस हिमांशु कुमार ने योगी सरकार के फैसलों पर उंगली उठाते हुए सरकार के खिलाफ ट्वीट किया था. हिमांशु का ट्वीट वायरल होते ही उन्हें सस्पेंड कर दिया गया. 'आजतक' आपको बताने जा रहा है उस आईपीएस ऑफिसर के बारे में जिसने योगी सरकार पर लगाए थे संगीन आरोप.

कौन है IPS हिमांशु कुमार आईपीएस अधिकारी हिमांशु कुमार बिहार के पूर्वी चंपारण स्थित बथना गांव के रहने वाले हैं. हिमांशु कुमार 2010 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं. हिमांशु कुमार फिरोजाबाद में बतौर एसपी पोस्टेड थे. योगी सरकार के खिलाफ विवादित ट्वीट करने के बाद उन्हें लखनऊ डीजीपी हेडक्वार्टर्स के साथ अटैच कर दिया गया. बताया जाता है कि पिछली अखिलेश सरकार में हिमांशु कुमार का काफी रूतबा था. सत्ताधारी नेताओं से नजदीकियों की वजह से वो अपनी मनचाही जगहों पर पोस्टिंग पाते थे.

योगी सरकार पर लगाया आरोप गोरखपुर से सांसद योगी आदित्यनाथ को यूपी का मुख्यमंत्री बनाए जाने के बाद आईपीएस हिमांशु कुमार ने प्रदेश सरकार के फैसले के खिलाफ एक ट्वीट किया था. इस ट्वीट में उन्होंने सरकार पर जातिगत भेदभाव करने का आरोप लगाया था. बीते बुधवार किए गए ट्वीट में उन्होंने लिखा, 'यहां वरिष्ठ अधिकारियों में 'यादव' सरनेम वाले पुलिसकर्मियों को सस्पेंड या लाइन हाजिर करने की होड़ मची है.' हिमांशु का यह ट्वीट काफी वायरल हुआ और देखते ही देखते यह बात हुक्मरानों के कानों तक जा पहुंची. जिसके बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने उन्हें तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया.

IPS हिमांशु के खिलाफ पत्नी ने किया है केस आईपीएस हिमांशु कुमार की 2014 में प्रिया सिंह के साथ पटना के एक फाइव स्टार होटल में धूमधाम से शादी हुई थी. शादी की दूसरी सालगिरह से पहले ही 2016 में प्रिया सिंह ने हिमांशु और उनके परिवार पर दहेज उत्पीड़न और जानलेवा हमला करने जैसे संगीन आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज करवाया था. प्रिया ने यह भी आरोप लगाया कि हिमांशु का किसी लड़की के साथ अफेयर चल रहा है. इस केस में पटना जिला व्यवहार न्यायालय और पटना हाई कोर्ट ने हिमांशु की अग्रिम जमानत की अर्जी नामंजूर कर दी थी. निचली अदालत ने 4 हफ्ते के अंदर उन्हें सरेंडर करने का आदेश दिया, लेकिन हिमांशु ने सरेंडर नहीं किया.

जमकर निकाली ट्विटर पर भड़ास इसी बीच हिमांशु कुमार ने ट्विटर पर खूब तहलका मचाया. बुधवार रात हिमांशु ने ट्वीट किया, 'कुछ लोग मेरे पर्सनल कोर्ट केस को सोशल मीडिया पर घसीट रहे हैं, मैं यहीं उनसे हिसाब चुकता करूंगा.' हिमांशु ने एक के बाद एक कई ट्वीट किए जिनमें वह लिखते हैं, वह लोग उन्हें ब्लैकमेल कर 10 करोड़ रुपये की मांग कर रहे हैं. हिमांशु ने बताया कि 11 जुलाई, 2016 को उन्होंने अपनी पत्नी प्रिया सिंह के खिलाफ ई-मेल हैक करने का केस भी दर्ज करवाया था. साथ ही हिमांशु ने प्रिया के आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए बताया कि प्रिया खुद उनके साथ नहीं रहना चाहती. प्रिया की फैमिली ने हिमांशु को कुछ प्रॉपर्टी भी दी थी, जिस पर हिमांशु का कहना है कि प्रिया की फैमिली ने प्रॉपर्टी शादी से पहले गिफ्ट के तौर पर उन्हें दी थी.

Read more!

RECOMMENDED