झेलम एक्सप्रेस में सीट को लेकर झगड़ा, 3 यात्रियों को ट्रेन से फेंका

जम्मू से चलकर पुणे जाने वाली झेलम एक्सप्रेस में बुधवार सुबह सीट को लेकर 6 यात्रियों के बीच मारपीट हो गई जिसमें कुछ यात्रियों ने दूसरे तीन यात्रियों को ट्रेन से नीचे फेंक दिया.

झेलम एक्सप्रेस (फाइल फोटो)
aajtak.in
  • नई दिल्ली,
  • 08 अगस्त 2019,
  • अपडेटेड 12:27 PM IST

जम्मूतवी से चलकर पुणे जाने वाली झेलम एक्सप्रेस में बुधवार सुबह सीट को लेकर 6 यात्रियों के बीच मारपीट हो गई. यात्रियों में सीट को लेकर विवाद इतना बढ़ गया कि दोनों पक्षों में लात घूंसे चल गए. जिसके बाद यात्रियों ने दूसरे 3 यात्रियों को चलती ट्रेन से धक्का दे दिया. यह घटना सोनीपत और नरेला स्टेशन के बीच हुई.

इस घटना की जानकारी रेल अधिकारियों को दी गई. सूचना मिलते ही रेल अधिकारी फरीदाबाद पहुंची ट्रेन को रोककर तीन घायल यात्रियों को ट्रेन से उतारा. इसके बाद दो घंटो के बाद दूसरे तीन यात्री घायल अवस्था में किसी तरह फरीदाबाद स्टेशन पहुंचे. सभी घायल यात्रियों को प्राथमिक उपचार के लिए रेलवे अस्पताल में भर्ती कराया गया. जांच अधिकारी राजपाल ने बताया कि यात्रियों की शिकायत पर जीरो एफआईआर दर्ज कर थाना सब्जी मंडी को भेज दी गई है.

सीट के लिए हुआ झगड़ा

बताया जा रहा है  रामेश्वर मीना, प्रेम नारायण नागर, फूलचंद नागर जिला गुना के गांव फतेहगढ़ के रहने वाले हैं. ये सभी 15 दिन पहले साइकिल से वैष्णो देवी यात्रा पर गए थे. वापसी में आते वक्त थकावट के कारण वे अपने बाकी के साथी दीपक ओझा, अनिल ओझा, ज्योति ओझा, शिवम, विनोद और देवेंद्र नरनरिया के साथ झेलम एक्सप्रेस से वापस ग्वालियर जा रहे थे. वे सभी जनरल कोच में सफर कर रहे थे.

यात्रियों ने बताया जब ट्रेन बुधवार सुबह करीब 8.35 बजे सोनीपत पहुंची. वहां से करीब आधा दर्जन से अधिक लोग जनरल कोच में चढ़ गए और जबरन सीट खाली कराने लगे. घायल यात्री रामेश्वर मीना, प्रेम नारायण नागर, फूलचंद के मुताबिक हमला करने वाले लोगों ने ट्रेन में घुसते ही उनकी सीट पर जबरन जबरन बैठने कोशिश करने लगे. जबकि उस सीट पर पहले से ही पांच लोग बैठे हुए थे. जब उन लोगों ने जगह न होने की बात कही तब वे सभी एकजुट होकर उन पर टूट पड़े. लात घूंसों से मारपीट कर सभी को घायल कर दिया.

तीन यात्रियों को ट्रेन से दिया धक्का 

यात्रियों का आरोप है कि हमलावरों ने शिवम ओझा, विनोद और देवेंद्र नरनरिया को नरेला स्टेशन के पास चलती ट्रेन से धक्का देकर गिरा दिया. उनका कहना था कि हमला करने वाले सोनीपत और नरेला के बीच के रहने वाले थे. इस मारपीट की सूचना मिलने पर डिप्टी एसएस डीएस भंडारी ने घटना की जानकारी आरपीएफ और जीआरपी को दी. जब सुबह करीब 11.20 बजे ट्रेन ओल्ड फरीदाबाद स्टेशन पहुंची तब आरपीएफ और जीआरपी कर्मियों ने यात्रियों को मेडिकल सुविधा उपलब्ध कराई.

Read more!

RECOMMENDED