ट्रेन में धमाके की जगह मिली जैश की चिट्ठी, आखिर क्या है साजिश?

तीन और हमले करने की बात पत्र में कही गई है. वहीं, एसपी संजीव सुमन ने ट्रेन में ब्लास्ट के बाद एक पत्र मिलने की पुष्टि की है. जिस पर हिंदी में जैश-ए-मोहम्मद लिखा है. लेकिन एसपी के मुताबिक यह किसी की शरारत लगती है. हालांकि पूरी जांच होने के बाद ही सच सामने आएगा.

आदित्य बिड़वई
  • नई दिल्ली,
  • 21 फरवरी 2019,
  • अपडेटेड 11:17 AM IST

पुलवामा में सीआरपीएफ जवानों पर हुए आत्मघाती हमले के बाद बुधवार को कानपुर और मुंबई में लो इंटेंसिटी धमाके हुए. इसके बाद सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट पर हैं. कानपुर में कालिंदी एक्सप्रेस की जनरल बोगी के टॉयलेट में बुधवार शाम धमाका हुआ जिसमें शौचालय और बैटरी बॉक्स के परखच्चे उड़ गए तो वहीं ठाणे में मीरा रोड पर ठाकुर मॉल के सामने धमाका हुआ. हालांकि, इन दोनों घटनाओं में किसी तरह के जनहानि की खबर नहीं है.

कानपुर में धमाके वाली जगह से सुरक्षा एजेंसियों को एक बैग मिला है. इसमें जैश एजेंट के नाम धमकी भरा लैटर भी है. इसमें कानपूर-दिल्ली शताब्दी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मंच को उड़ाने की धमकी दी है.

इसके साथ ही तीन और हमले करने की बात पत्र में कही गई है. वहीं, एसपी संजीव सुमन ने ट्रेन में ब्लास्ट के बाद एक पत्र मिलने की पुष्टि की है. जिस पर हिंदी में जैश-ए-मोहम्मद लिखा है. लेकिन एसपी के मुताबिक यह किसी की शरारत लगती है. हालांकि पूरी जांच होने के बाद ही सच सामने आएगा.

एक ही दिन में दो धमाके...किस साजिश की ओर है इशारा...

पुलवामा हमले के बाद एक दिन में दो धमाके जैश की किसी बड़ी साजिश की ओर इशारा कर रहे हैं. कहा जा रहा है कि छोटे धमाके कर जैश-ए-मोहम्मद देश में खौफ का माहौल पैदा करना चाहता है. इसलिए धमाके किए जा रहे हैं.

मुंबई में भी एटीएस अलर्ट...

सूत्रों की मानें तो मीरा रोड पर हुए धमाके के बाद एजेंसियों के अलर्ट होने की एक बड़ी वजह है यहां मिले पार्टिकल्स. फॉरेंसिक टीम को धमाके की जगह से प्लास्टिक बोतल, लोहे के छर्रे, सफ़ेद पाउडर मिला है, जो आमतौर पर आतंकी भी किसी धमाके को अंजाम देने के लिए इस्तेमाल करते रहे हैं.

सूत्रों का तो यह तक कहना है कि धमाके ट्रायल के तौर पर किए गए हैं, जो नाकाम रहे. फिलहाल ATS सहित तमाम एजेंसियां मौके पर पहुंचकर जांच में जुट गई हैं. 

Read more!

RECOMMENDED