हैदराबाद में फिर आया रेप का मामला, मदद के बहाने ऑटो ड्राइवर ने किया बलात्कार

तेलंगाना के हैदराबाद में रेप का एक और मामला सामने आया है. यहां चंद्रयांगुत्ता थाना क्षेत्र में एक 18 वर्षीय लड़की से एक ऑटो ड्राइवर ने कथित रूप से रेप की घटना को अंजाम दिया. इस मामले में पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है.

सांकेतिक तस्वीर
आशीष पांडेय
  • हैदराबाद,
  • 13 दिसंबर 2019,
  • अपडेटेड 7:28 AM IST

  • रेप की घटना सामने आने के बाद पुलिस ने दर्ज किया केस
  • पीड़िता अपनी 10 वर्षीय बहन के साथ भूल गई थी रास्ता

तेलंगाना के हैदराबाद में रेप का एक और मामला सामने आया है. यहां चंद्रयांगुत्ता थाना क्षेत्र में एक 18 वर्षीय लड़की से एक ऑटो ड्राइवर ने कथित रूप से रेप किया. पीड़ित अपनी 10 वर्षीय बहन के साथ रास्ता भूल गई थी, तो आरोपी ऑटो ड्राइवर ने उन्हें मदद की पेशकश की. इसके बाद 8 दिसंबर की रात लड़की का ऑटो ड्राइवर ने यौन उत्पीड़न किया.

ऑटो ड्राइवर ने शहर के नामपल्ली इलाके में एक लॉज में लड़की के साथ रेप किया. इस मामले में पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है. इससे पहले हैदराबाद में डॉक्टर दिशा के साथ गैंगरेप करने और हत्या करने का मामला सामने आया था. इसको लेकर देशभर में जमकर विरोध प्रदर्शन हुआ था.

इसके बाद पुलिस ने मामले में चार आरोपियों को गिरफ्तार किया था. इसके बाद मामले की जांच के दौरान पुलिस क्राइम सीन को रिक्रिएट करने के लिए आरोपियों को घटनास्थल पर ले गई थी और एनकाउंटर में ढेर कर दिया था. पुलिस का दावा है कि क्राइम सीन रिक्रिएट करने के दौरान आरोपियों ने हथियार छीना था और पत्थरों से हमला किया था. इसके बाद क्रॉस फायरिंग में चारों आरोपियों को ढेर कर दिया गया.

इसके बाद तेलंगाना पुलिस के इस एनकाउंटर पर सवाल उठे और मामले में सुप्रीम कोर्ट व तेलंगाना हाईकोर्ट में याचिकाएं लगाई गईं. इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने एनकाउंटर की जांच के लिए आयोग गठित करने का आदेश दिया. यह आयोग सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायमूर्ति वीएस सिरपुरकर के नेतृत्व में गठित करने का आदेश दिया गया है. इस जांच आयोग में बॉम्बे हाईकोर्ट की पूर्व न्यायमूर्ति रेखा सोनदुर बालदोता और पूर्व सीबीआई डायरेक्टर डीआर कर्तिकेयन को शामिल किया गया है.

इसके अलावा पुलिस एनकाउंटर को लेकर राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग की टीम ने भी घटनास्थल का दौरा किया था.

Read more!

RECOMMENDED