ओप्पो कंपनी के सिक्योरिटी गार्ड की हत्या का मामला, तीसरे आरोपी पर लगा रासुका

ग्रेटर नोएडा में ओप्पो कंपनी में बीती 25 जनवरी 2019 को एक सिक्योरिटी गार्ड की सुंदर भाटी गैंग के गुर्गों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी. इस सनसनीखेज हत्या को अंजाम देकर बदमाश हथियार लहराते हुए फरार हो गए थे.

जिला प्रशासन ने लगाया रासुका
पुनीत शर्मा
  • नई दिल्ली,
  • 03 सितंबर 2019,
  • अपडेटेड 2:34 AM IST

  • 25 जनवरी 2019 को हुई थी सिक्योरिटी गार्ड की हत्या
  • दो आरोपियों के खिलाफ पहले हो चुकी की कार्रवाई

ग्रेटर नोएडा में स्थित ओप्पो कंपनी के सिक्योरिटी गार्ड की हत्या करने के मामले में सजा काट रहे आरोपी पर जिला प्रशासन ने कार्रवाई करते हुए राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) लगा दिया है. इस हत्याकांड में 5 लोग शामिल बताए जा रहे हैं, जिनमें से तीन लोगों ने गाड़ी से नीचे उतरकर सुरक्षा गार्ड की हत्या की थी.

बता दें कि ग्रेटर नोएडा में ओप्पो कंपनी में बीती 25 जनवरी 2019 को एक सिक्योरिटी गार्ड की सुंदर भाटी गैंग के गुर्गों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी. इस सनसनीखेज हत्या को अंजाम देकर बदमाश हथियार लहराते हुए फरार हो गए थे. हत्या की वारदात के बाद ओप्पो कंपनी में काम कर रहे विदेशी लोग काफी डरे हुए थे. इस हत्याकांड में पुलिस ने 5 आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था.

अब जिला प्रशासन ने कार्रवाई करते हुए इस हत्याकांड में एक आरोपी पर रासुका लगाया है. इससे पहले भी जिला प्रशासन इस हत्याकांड में 2 लोगों के खिलाफ रासुका की कार्रवाई कर चुका है. हालांकि इस मामले में 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया था. जिला प्रशासन व पुलिस के अधिकारियों का कहना है कि बाकी बचे दो और आरोपियों की जांच की जा रही है कि उनका आपराधिक इतिहास क्या है. इसके अलावा जेल में उनका व्यवहार किस तरीके का है, जिसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी.

पुलिस के आला अधिकारियों का कहना है कि जिला प्रशासन के द्वारा अब तक 10 लोगों के खिलाफ रासुका की कार्रवाई की जा चुकी है. जबकि एक बिल्डर पर भी रासुका लग चुका है. इसके साथ ही इस बात की जांच भी की जा रही है कि इस हत्या में सुंदर भाटी का क्या रोल था. जेल में बैठकर उसने हत्या कराने की वारदात को कैसे अंजाम दिया था.

Read more!

RECOMMENDED