बिहार: BDO की आत्महत्या पर पत्नी ने उठाए सवाल, कहा- मेरे पति कमजोर नहीं थे

बुधवार को BDO राजीव रंजन गया में अपने अपार्टमेंट की छत से कूद कर आत्महत्या कर ली थी. पुलिस को उनका सुसाइड नोट भी मिला था.

BDO राजीव रंजन और पत्नी सोनम (फाइल फोटो)
सुजीत झा
  • गया,
  • 31 अक्टूबर 2019,
  • अपडेटेड 11:17 PM IST

  • बिहार प्रशासनिक संघ ने भी की निष्पक्ष जांच करने की मांग
  • वरीय अधिकारियों पर पति को प्रताड़ित करने का आरोप

गया जिला के कोंच प्रखंड के BDO राजीव रंजन की पत्नी ने सोनम ने पति की आत्महत्या पर सवाल उठायें हैं. उन्होंने गया जिले के वरिष्ठ अधिकारियों पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाते हुए कहा कि कहा कि यह आत्महत्या नहीं है. सरकार इसकी निष्पक्ष जांच करांए. वहीं बिहार प्रशासनिक संघ ने भी बिहार सरकार के मुख्य सचिव को पत्र लिख कर जांच कराने की मांग की है.

बुधवार को BDO राजीव रंजन गया में अपने अपार्टमेंट की छत से कूद कर आत्महत्या कर ली थी. पुलिस को उनका सुसाइड नोट भी मिला था. बताया गया कि पारिवारिक कारणों से BDO ने आत्महत्या की है. वहीं गया के बैंक में पीओ पद पर तैनात पत्नी सोनम ने पुलिस पर सुसाइड नोट नहीं दिखाने का आरोप भी लगाया है.

पत्नी सोनम का क्या है कहना?

सोनम का कहना है,  'किसके घर में पति-पत्नी के बीच नोक-झोंक नहीं होती है पर सुसाइड का ये कारण नहीं हो सकता. मृतक BDO ने घटना से एक दिन पहले अपनी पत्नी को डायमंड गिफ्ट किया था. अभी 9 महीने पहले ही इनकी शादी हुई थी.

गया जिले के कोंच प्रखंड के मृतक BDO का पार्थिव शरीर उनके मुंगेर पैतृक आवास पहुंचते ही घर में कोहराम मच गया. पार्थिव शरीर का अंतिम संस्कार मुंगेर के गंगा घाट में किया गया.

वहीं पत्नी सोनम कुमारी ने मीडिया के समक्ष पति के आत्महत्या को नकारा है. पत्नी सोनम ने बताया कि पति मानसिक रूप से मजबूत थे और वो आत्महत्या नहीं कर सकते हैं. उन्होंने स्वीकार करते हुए कहा घर में पति पत्नी के बीच कभी-कभार कहा सुनी हुआ करती थी.  लेकिन वह कुछ नहीं बोलते थे सिर्फ और सिर्फ मैं ही बोलती थी वह बिल्कुल चुप रहते थे.

पति कराना चाहते थे तबादला

सोनम ने पुलिस पर आरोप लगाया की अब तक उनके पति के पास से बरामद सुसाइड नोट को उसे नहीं दिखाया गया है. उन्होंने पति का सुसाइड लेटर भी पुलिस से उपलब्ध कराने की मांग की. BDO की पत्नी ने कहा कि पति का लिखा गया कोई भी सुसाइड नोट उन्हें नहीं मिला है. उन्हें सिर्फ पुलिस और लोगों से ही 3 या 4 पेज का सुसाइड नोट लिखे होने की जानकारी मिली.

उन्होंने कहा कि समय पर मेरे पति कार्यालय जाते थे और अपने काम को निपटाते थे. उन्होंने वरीय अधिकारियों पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाते हुए कहा कि पति को बड़े अधिकारियों द्वारा फटकार लगाई जाती थी. इससे वह काफी परेशान रहते थे. उन्होंने कहा कि पति गया के कोंच में बीडियो के रूप में कार्य नहीं करना चाहते थे और कई बार कह चुके थे कि वह यहां नहीं रहना चाहते हैं यहां से कहीं और तबादला कराना चाहते हैं.

पत्नी ने कहा कि पति ने कई बार मुझसे तबादले कराने की बात कही थी. उन्होंने कहा कि परिवार में कोई विवाद नहीं है. हां कभी-कभी मेरे और पति के बीच बहस होती थी लेकिन यह बहस गंभीर नहीं होता था जिससे कि आत्महत्या जैसा कदम उठाने पर मजबूर हों. उन्होंने कहा कि समाज में हर घर में पति-पत्नी के बीच छोटी मोटी नोकझोंक होते रहती है.

उन्होंने कहा कि पति छत पर से कूदकर सुसाइड करने की बात उन्हें बताया गया लेकिन कूदने के बाद शरीर पर जख्म के निशान नहीं पाए गए. वह बार-बार रट लगा रही थी कि इतने कमजोर नहीं थे कि आत्महत्या कर लेते उन्होंने पति ने आत्महत्या की है या उनकी हत्या की गई है पुलिस निष्पक्ष रूप से करें और उन्हें न्याय दिलाएं.

Read more!

RECOMMENDED