एक लाख रुपये लेते रंगे हाथ पकड़ी गई गैंगरेप 'पीड़िता'

हरियाणा के यमुनानगर में गैंगरेप का झूठा आरोप लगाकर पैसे ऐंठने का सनसनीखेज मामला सामने आया है. तीन युवकों पर गैंगरेप का आरोप लगाने वाली कॉलेज छात्रा को पुलिस ने एक लाख रुपये लेते हुए रंगे हाथों पकड़ लिया. आरोप है कि केस वापस लेने की एवज में उसने पांच लाख रुपये की डिमांड की थी.

हरियाणा के यमुनानगर की घटना
मुकेश कुमार
  • चंडीगढ़,
  • 29 नवंबर 2017,
  • अपडेटेड 11:15 AM IST

हरियाणा के यमुनानगर में गैंगरेप का झूठा आरोप लगाकर पैसे ऐंठने का सनसनीखेज मामला सामने आया है. तीन युवकों पर गैंगरेप का आरोप लगाने वाली कॉलेज छात्रा को पुलिस ने एक लाख रुपये लेते हुए रंगे हाथों पकड़ लिया. आरोप है कि केस वापस लेने की एवज में उसने पांच लाख रुपये की डिमांड की थी.

जानकारी के मुताबिक, यूपी के शामली की रहने वाली 18 वर्षीय युवती ने महिला पुलिस को शिकायत देकर तीन युवकों पर गैंगरेप का आरोप लगाया था. उसने बताया था कि वह शहर के एक कॉलेज में बीकॉम प्रथम वर्ष की छात्रा है. कुछ महीने पहले ट्रेन से यमुनानगर आते हुए उसकी मुलाकात शामली के गगोर के पंकज से हुई थी.

उसने बताया था कि पंकज जगाधरी वर्कशॉप में नौकरी करता है. उसने यह भी कहा था कि पंकज के कहने पर ही वह होस्टल छोड़कर पीजी में रहने लगी थी. उसका आरोप था कि 24 अगस्त को शाम करीब छह बजे पंकज उसके कमरे पर आया था. एक पार्टी का बहाना कर वह उसे रेलवे वर्कशॉप के क्वार्टर में ले आया था.

वहां पंकज के साथी यूपी के बागपत के गांव हलालपुर वासी संजीव बागपत के सिरसोली का आर्यन भी मौजूद था. वहां कोल्डड्रिंक में नशीली चीज पिलाकर उसके साथ गैंगरेप किया गया. इसके बाद थाने में केस दर्ज कराया था. बताया जाता है कि उसने केस वापस लेने के लिए आरोपियों से पांच लाख की डिमांड की थी.

इसके बाद आरोपियों और उसके बीच एक लाख रुपये लेकर केस वापस लेने के समझौता हो गया. इसी रकम को लेने के लिए वह आई थी. इसी बीच पहले से सूचित पुलिस वहां पहुंच गई और आरोपी छात्रा को रंगे हाथ धर दबोचा. पुलिस आरोपी छात्रा से पूछताछ कर रही है. आज उसे अदालत में पेश करने की संभावना है.

Read more!

RECOMMENDED