दिल्ली में बदमाशों के हौसले बुलंद, सरेआम एक शख्स की हत्या, दो घायल

राजधानी दिल्ली में बदमाशों के हौसले किस कदर बुलन्द होते जा रहे है इसकी एक बानगी सीलमपुर इलाके में उस वक्त देखने को मिली जब सरेशाम कुछ बदमाशों ने एक घर के बाहर ताबड़तोड़ गोलियां चलाई. इस गोलीबारी में एक शख्स की मौत हो गई.

सीलमपुर इलाके में फायरिंग
अनुज मिश्रा
  • नई दिल्ली,
  • 13 अप्रैल 2019,
  • अपडेटेड 5:26 AM IST

राजधानी दिल्ली में बदमाशों के हौसले किस कदर बुलन्द होते जा रहे है इसकी एक बानगी सीलमपुर इलाके में उस वक्त देखने को मिली जब सरेशाम कुछ बदमाशों ने एक घर के बाहर ताबड़तोड़ गोलियां चलाई. इस गोलीबारी में एक शख्स की मौत हो गई, जबकि दो महिलाएं घायल हुई है. उनका इलाज अस्पताल में चल रहा है. पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है. बताया जा रहा है कि ये मामला आपसी रंजिश का हो सकता है.

उतर पूर्वी दिल्ली के थाना सीलमपुर इलाके में रहने वाले नफीस नाम के शख्स के घर के बाहर इस वारदात को अंजाम दिया गया है. शुक्रवार शाम को कुछ लोग घर के बाहर पहुंचे और अंधाधुन गोलियां चलाने लगे. इस वारदात में नफीस को सिर में गोली लगी और वो वही गिर गया, जबकि पड़ोस में मजूद दो महिलाओं को भी गोली लगी. हमलावर वारदात को अंजाम देकर मौके से पैदल ही फरार हो गए.

आननफानन में सभी घायलों को अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने नफीस को मृत घोषित कर दिया. जबकि अनिता और भगवती नाम की दोनों घायल महिलाओं का अस्पताल में इलाज चल रहा है, जहां उनकी हालत स्थिर बताई जा रही है.

बताया जा रहा है कि मृतक नफीस अपने परिवार के साथ सीलमपुर इलाके में काफी सालों से रहता था. फिलहाल पुलिस लाश का पोस्टमार्टम करवा रही है. शुरुआती जांच के बाद पुलिस का कहना है कि मृतक नफीस पर भी आपराधिक मामले दर्ज थे. ऐसे में कुछ लोगो का ये भी कहना है कि ये मामला गैंगवार का हो सकता है, क्योंकि नफीस किसी गैंग से जुड़ा हुआ था.

हालांकि इस मामले में इलाके के डीसीपी अतुल ठाकुर का कहना है कि अभी मामले की जांच की जा रही है. ऐसा लग रहा है कि ये मामला आपसी रंजिश का हो सकता है. आसपास के सीसीटीवी कैमरे की फुटेज को खंगाला जा रहा है, ताकि हमलावरों की पहचान की जा सके, लेकिन जिस तरह से इस वारदात को अंजाम दिया गया उससे एक बात तो साफ थी कि हमलावर एक प्लानिंग के साथ इस वारदात को अंजाम देने के मकसद से पहुंचे थे.

डीसीपी ने कहा कि इलाका बेहद सकरा था ऐसे में वारदात को अंजाम देकर आराम से फरार हो जाना इस बात की तस्दीक करता है कि वो न सिर्फ पूरे इलाके से वाकिफ थे बल्कि प्लानिंग के तहत कैसे आना है और कैसे वारदात को अंजाम देकर फरार होना है, वो सब जानते थे. फिलहाल मामले की जांच की जा रही है.

Read more!

RECOMMENDED