पुलिस एंड इंटेलिजेंस

MP: लापता कोरोना मरीज का शव मिला, 3 दिन पहले कोविड सेंटर से हुआ था गायब

हिमांशु पुरोहित
  • सागर,
  • 24 अप्रैल 2021,
  • अपडेटेड 9:02 PM IST
  • 1/5

मध्य प्रदेश के सागर शहर के कोरोना संक्रमित मरीज मुन्ना लाल जैन के लापता होने की गुत्थी अभी सुलझी नहीं थी कि उनकी लाश मिलने से मामला और अधिक उलझ गया है. शास्त्री वार्ड निवासी मुन्ना लाल 14 अप्रैल को कोविड लक्षण मिलने पर शासकीय बुंदेलखंड  मेडिकल कालेज सागर में एडमिट हुए थे. 18 अप्रैल तक उनका उनके बेटे अंशुल से सम्पर्क बना रहा. 19 तारीख के बाद जब कोई खबर नहीं मिली तो बेटे ने मेडिकल कॉलेज में तलाशी की लेकिन वह नहीं मिले. इसके बाद सोशल मीडिया पर भी उनके लापता होने की खबर दी गई. 

  • 2/5

21 अप्रैल को बीएमसी प्रबंधन ने बताया कि मुन्ना लाल 19 अप्रैल को डिस्चार्ज हुए हैं. उनको उनके परिजन बेहतर इलाज के लिए ले गए. इस जानकारी ने मुन्ना लाल के परिजनों की चिंताएं बढ़ा दी. परेशान बेटे अंशुल ने गोपालगंज थाना में पिता के गुमशुदा होने की रिपोर्ट दर्ज कराई. इसके बाद शुक्रवार की शाम को रेलवे स्टेशन के बाहर उनका शव मिला. शरीर पर चोट के निशान नहीं मिले हैं. पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है.   

  • 3/5

बेटे अंशुल का आरोप है कि परिजनों को बिना बताए किस आधार पर उनके पिता को डिस्चार्ज किया गया. यह बीएमसी प्रशासन की लापरवाही है. वहीं, बीएमसी ने गायब मुन्नालाल जैन के बेटे अंशुल को डीएएमए स्लिप देकर अपना पल्ला झाड़ लिया है. इस स्लिप के मुताबिक, मुन्नालाल के परिजन बेहतर इलाज के लिए डिस्चार्ज करा लें गए.  (प्रतीकात्मक फोटो)

  • 4/5

मृतक के रिश्तेदार मनोज जैन का कहना है कि फूफा जी के लापता होने पर हमने 19 तारीख से ही उनकी जानकारी व्हाट्सऐप पर शेयर की थी. साथ ही उनकी थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट भी दर्ज कराई थी. इसके बाद पुलिस ने हमें जानकारी दी कि रेलवे स्टेशन के पास फूफा जी की डेड बॉडी मिली है. उनके शरीर पर कोई कपड़े नहीं थे बस एक हाफ चड्डा पहने मिले हैं. (प्रतीकात्मक फोटो)  

  • 5/5

गोपालगंज थाना के उपनिरीक्षक विकास कुमार का कहना है कि 14 अप्रैल को मुन्ना लाल जैन को इनके पुत्र अंशुल जैन ने भर्ती कराया था. दिनांक 18 तारीख तक उनकी लगातार मोबाइल पर बातचीत चलती रही. 19 तारीख को उनका संपर्क नहीं हुआ तो उनका बेटा लगातार  मुन्ना लाल जैन की तलाश करता रहा. बीएमसी स्टाफ से कोई जानकारी नहीं मिलने पर दिनांक 21 अप्रैल को मुन्ना लाल जैन की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई गई. इसके बाद पुलिस ने शहर के सीसीटीवी कैमरों की तलाश की लेकिन मुन्ना लाल जैन का कोई सुराग नहीं मिला. इसके बाद एक अज्ञात मार्ग पर उनके मिलने की सूचना मिली जिसके बाद पुलिस ने मृतक के परिजनों को बुलाकर शव की शिनाख्त कराई. पुलिस का कहना है कि मृतक के शरीर पर कोई चोट के निशान नहीं मिले हैं फिलहाल मामले की जांच की जा रही है.  (प्रतीकात्मक फोटो)  

लेटेस्ट फोटो