पुलिस एंड इंटेलिजेंस

दिल्ली: करोड़ों की कोठी..लग्जरी गाड़ियां, किन्नर की हत्या के बाद चौंकाने वाले खुलासे

अरविंद ओझा
  • नई दिल्ली,
  • 12 अप्रैल 2021,
  • अपडेटेड 12:12 AM IST
  • 1/16

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने इनामी कांट्रैक्ट किलर्स को गिरफ्तार कर नॉर्थ ईस्ट दिल्ली में हुए एक किन्नर की हत्या का खुलासा किया. वर्चस्व की लड़ाई को लेकर हुई इस हत्या के लिए 55 लाख की सुपारी दी गई थी. इसी बीच कई चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं जिसमें यह भी पता चला कि करोड़ों की कोठी कैसे बनाई गई. (फोटो में किन्नर एकता जोशी- File Photo)

  • 2/16

दरअसल, दिल्ली में पिछले साल किन्नर एकता जोशी की हत्या कर दी गई थी. एकता किन्नरों के गुरु की उत्तराधिकारी मानी जा रही थीं. लेकिन उससे पहले ही उनकी हत्या कर दी गई. पुलिस ने इस मामले में दो कॉन्ट्रैक्ट किलर्स को गिरफ्तार किया है, जिन्होंने पूछताछ में कई खुलासे किए हैं. पुलिस ने बताया कि किन्नरों के एक गुट ने दूसरे गुट की किन्नर की हत्या की साजिश रची थी. (File Photo)

  • 3/16

इसी वर्चस्व की लड़ाई में यह भी सामने आया कि कैसे किन्नरों के बीच इलाके में वर्चस्व और पैसे के कलेक्शन को लेकर रंजिश चलती है. इसी वर्चस्व को लेकर किन्नरों के दूसरे गुट ने कांट्रेक्ट किलर्स हायर किए. रंजिश का नतीजा था किन्नर एकता जोशी की हत्या.

  • 4/16

जीटीबी इन्क्लेव में कम से कम 10 करोड़ की कोठी में किन्नर एकता जोशी रहती थी. जिसकी गोली मारकर 5 सितंबर को हत्या कर दी गई थी. इस कोठी में तमिलनाडु, केरल, उत्तर प्रदेश समेत कई राज्यों के किन्नरों का बसेरा है.

  • 5/16

फिलहाल किन्नरों की गुरु अनीता जोशी इस कोठी की मालकिन है, जबकि मृतक एकता जोशी आने वाले दिनों में किन्नरों की गुरु बनने वाली थी. अनीता के पास ही यमुनापार इलाके में किन्नरों के होने वाले पैसों के कलेक्शन का पूरा ठेका है. किस गली में किस इलाके में किन्नरों का कौन सा गुट जाएगा ये अनीता और एकता ही तय करती थीं.

  • 6/16

कोठी के बाहर लग्जरी गाड़ियों का रेला लगा रहता है, अनीता फॉर्च्यूनर कार से चलती है और उसकी सुरक्षा के लिए हथियारों से लैस प्राइवेट सुरक्षा गार्ड चलते हैं. कोठी के बाहर आने जाने वालों की निगरानी कोठी में लगे सीसीटीवी कैमरों से की जाती है.

  • 7/16

घर के बाहर 2 लग्जरी रेड कलर की क्रेटा कार हमेशा बाकी किन्नरों के लिए मौजूद रहती है. वारदात के दिन इस लाल रंग की क्रेटा कार जिसमें पीछे अनीता और एकता लिखा हुआ है इसी में सवार होकर एकता और अनीता जीटीबी इन्क्लेव पहुंची थी जब स्कूटी सवार हमलावरों ने एकता को गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया था.

  • 8/16

वारदात के दिन एकता के साथ मौजूद अनीता ने बताया कि हम लक्ष्मीनगर से वापस कोठी पहुंचे थे तभी स्कूटी सवार ने एकता को गोली मार दी थी. बदमाश मुझ पर भी हमला करना चाहते थे लेकिन एकता ने बचा लिया.

  • 9/16

किन्नर एकता की हत्या के बाद से नॉर्थ ईस्ट दिल्ली की इस कोठी की सुरक्षा और कड़ी करवा दी गई है. लेकिन अनिता समेत इस गुट के किन्नर डरे हुए हैं. आज तक से बातचीत में चाहता नाम की किन्नर ने बताया कि हमारे समाज में भी काफी कम्पटीशन है. एकता अच्छा बोलती थी उसने जल्दी शोहरत हासिल कर ली थी इसलिए आरोपी किन्नर सिमरन, कोमल और वर्षा एकता से जलने लगे थे. इसलिए उन लोगों ने 55 लाख की सुपारी देकर उसे मरवा दिया.

  • 10/16

उन्होंने बताया कि हमारा इलाका, हमारे पंच होते हैं. वो तय करते हैं कि कौन किस इलाके में जायेगा और पैसों का कलेक्शन करेगा, कई बार अदालत से भी तय होता है. एकता को किन्नरों के पंच का दर्जा भी मिल गया था इसलिए दूसरे गुट और ज्यादा जलने लगे थे. (फोटो में सिमरन)

  • 11/16

एकता की गुरु भाई किन्नर संजना ने बताया कि एकता का रसूख बढ़ रहा था उसका नाम बढ़ रहा था उस से दूसरे किन्नर कोमल, वर्षा और सिमरन जलने लगे थे, उन लोगों ने सुपारी दी, इलाके की लड़ाई थी. हम सरकार से पुलिस से गुहार लगाते हैं कि हमें इंसाफ दिलवाएं. (फोटो में वर्षा)

  • 12/16

चाहता नाम की किन्नर ने कहा कि हमें अब डर लग रहा है, आरोपियों को फांसी होनी चाहिए. हमें डर है कि अगर आरोपी छूट गए तो वो हम पर हमला करेंगे. एक किन्नर ने बताया कि ये सब पुश्तों की बातें इसी तरह हमारे गुरु बताते हैं कि ये आपका इलाका है, ये घर, ये हद है. आज का जमाना कम्पटीशन का जमाना है हमारे समाज में भी एक दूसरे से जलन है.

  • 13/16

दिल्ली में है करोड़ों का कारोबार: एक किन्नर ने बताया कि सिर्फ दिल्ली में ही करोड़ों की कमाई और कलेक्शन होता है सबके इलाके बंटे हुए हैं, कोई किसी दूसरे के इलाके में नहीं जाता लेकिन सब मन ही मन चाहते हैं कि कई इलाकों में उनका कब्जा हो.

  • 14/16

फिलहाल दिल्ली पुलिस की पूछताछ में खुलासा हुआ कि किन्नरों के इलाके में वर्चस्व की लड़ाई को लेकर एक गुट के किन्नरों ने दूसरे गुट के किन्नर की हत्या के लिए 55 लाख की सुपारी दी थी.

  • 15/16

गिरफ्तार गगन पंडित ने पूछताछ में बताया किन्नर एकता जोशी की हत्या के लिए 55 लाख रुपये की सुपारी मिली थी और हत्याकांड को 7 लोगों ने अंजाम दिया था. गगन ने बताया कि वो किन्नर एकता जोशी हत्याकांड का मास्टरमाइंड था. 

गगन के मुताबिक, किन्नरों के एक ग्रुप के सदस्य मंजूर इलाही ने गगन से संपर्क किया था और किन्नर एकता जोशी और उसकी सौतेली मां अनीता जोशी की हत्या के लिए कहा था. इसके लिए 55 लाख की सुपारी दी थी.

  • 16/16

स्पेशल सेल के डीसीपी प्रमोद कुशवाहा के मुताबिक, 5 सितंबर 2020 को 2 स्कूटी सवार बदमाश आमिर और गगन ने एकता जोशी की गोली मारकर हत्या कर दी थी. (किन्नर एकता जोशी पर हमले का फोटो)

लेटेस्ट फोटो