पुलिस एंड इंटेलिजेंस

40 मोबाइल और करोड़ों रुपये का हिसाब-किताब, विशेष सॉफ्टवेयर से चल रहा था IPL का सट्टा

  • 1/5

मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में क्रिकेट के सट्टे का कारोबार इन दिनों फैल रहे वायरस की तरह रोज उजागर हो रहा है. दरअसल, इंदौर में इस बार एसटीएफ की टीम ने बड़ी कार्रवाई को अंजाम देते हुए क्रिकेट के सटोरिये जयवंत उर्फ जयेश लंके निवासी उषा नगर सहित कुल 8 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. (इंदौर से धर्मेंद्र कुमार शर्मा की र‍िपोर्ट)  

  • 2/5

पुलिस ने आरोपियों के पास से 40 मोबाइल फोन, 15 लाख रुपये नगद, एक एलईडी टीवी, लैपटॉप और करोड़ों के हिसाब किताब की पर्चियां जब्त की हैं. अब एसटीएफ की टीम मुख्य सरगना जयवंत उर्फ जयेश लंके सहित अन्य आरोपियों से पुछताछ में जुटी है. पूछताछ के बाद और भी बड़े खुलासे एसटीएफ की टीम कर सकती है.   

  • 3/5

जानकारी के मुताबिक, इंदौर एसटीएफ की टीम ने मुखबिर की सूचना पर आईपीएल का सट्टा पकड़ा है. एसटीएफ को मुखबिर से सूचना मिली थी कि निरंजनपुर और उषा नगर के एक फ्लैट में बड़े पैमाने पर आईपीएल मैच का सट्टा चल रहा है जिसके बाद एसटीएफ की दो टीमों ने दोनों ही जगह एक साथ दबिश देकर और मौके से 8 आरोपियों को गिरफ्तार कर 40 मोबाइल फोन, 15 लाख 19 हजार रुपये नगद और करोड़ों रुपये के हिसाब किताब के दस्तावेज जब्त किये हैं. वहीं,   उषानगर से एक एलईडी टीवी, लैपटॉप ओर अन्य उपकरण भी जब्त किये हैं.

  • 4/5

एसपी पश्चिम मनीष खत्री ने बताया कि आरोपियों ने अलग-अलग नाम से आईडी बना रखे थे और एक विशेष सॉफ्टवेयर के जरिये वो आईपीएल मैचों के सट्टे का बड़ा गोरखधंधा चला रहे थे. हमने 8 अरोपियों को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने उनके कब्जे से 40 मोबाइल फोन, 15 लाख रुपये नगद, एलईडी टीवी, लैपटॉप और करोड़ों के हिसाब की पर्चियां जब्‍त की हैं.

  • 5/5

अब पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर रही है कि उनके कहां-कहां नेटवर्क जुड़े हैं और इस पूरे सट्टे को कौन संचालित कर रहा था. पुलिस ये पता लगाने में जुटी है कि क्रिकेट सटोरियों के नेटवर्क कहां जुड़े थे. माना ये भी जा रहा है कि पूछताछ के बाद मामले में अब तक का सबसे बड़ा खुलासा हो सकता है. (प्रतीकात्‍मक फोटो)

लेटेस्ट फोटो