पुलिस एंड इंटेलिजेंस

देह व्यापार के लिए बांग्लादेश और रूस से लाता था लड़कियां, एक हजार नम्बर ट्रेस कर पकड़ा

  • 1/7

बांग्लादेश और रूस से इंदौर लाई गई युवतियों को नशे के लिए एमडी ड्रग्स उपलब्ध करवाने वाले सैक्स रैकेट के कुख्यात सरगना सागर जैन को विजय नगर पुलिस ने दिल्ली से गिरफ्तार किया है. इंदौर में सबसे बड़ा सेक्स स्कैंडल संचालित करता था और इसी में वह कुख्यात भी है. उसे एक हजार नंबर ट्रेस करने के बाद पकड़ा गया है. (इंदौर से धर्मेंद्र कुमार शर्मा की र‍िपोर्ट) 

  • 2/7

जब बांग्लादेशी लड़कियों को रिहा करवाया तो बदमाश का नाम सामने आया. पुलिस उसे पकड़ती इसके पहले वह भाग गया था. दिवाली के पहले उसने अपनी लोकेशन बदली औऱ दिल्ली में एक गर्लफ्रेंड के यहां रहने पहुंच गया था. वहीं से पुलिस ने तकनीक का उपयोग कर उसे पकड़ा है.

उधर, पुलिस ने बांग्लादेशी लड़कियों के अपहरण औऱ रैकेट संचालित करने वाली गैंग के फरार आरोपी को भी गाजियाबाद से पकड़ा है. एक महीने से इंदौर में बड़ा रैकेट संचालित करने वाले जैन को तलाश रही थी. आरोपी की बांग्लादेशी लड़कियों के अपहरण और मानव तस्करी के मामले में तलाश थी. 

  • 3/7

करीब एक महीने पहले विजय नगर थाना प्रभारी तहजीब काजी की टीम ने जैसे ही महालक्ष्मी नगर में सागर के घर दबिश दी थी तब बदमाश सैंडो का नाम सामने आया था. पुलिस की धरपकड़ के पहले ही वह भाग निकला था. पुलिस ने उसकी तलाश में तीन-चार बार अलग-अलग जगहों पर टीम भेजी, लेकिन वह नहीं मिला था.

  • 4/7

दिवाली के बाद थाना प्रभारी काजी को एक लिंक मिला थी कि वे जिन तीन आरोपियों को खोज रहे हैं वे दिल्ली के आसपास हो सकते हैं. पुलिस ने फिर नई तकनीकों और सूत्रों पर काम करना शुरू कर दिया, क्योंकि आरोपियों ने अपने मोबाइल बंद कर लिए थे. इसलिए उनका संपर्क नहीं मिल रहा है आखिर पुलिस को एक लिंक मिला जिसमें आऱोपी सैंडो की लोकेशन ट्रेस हुई. पता चला कि वह दिल्ली में अपनी गर्लफ्रेंड के घर छिपा हुआ है, वह घर से बाहर निकलता ही नहीं है.

उसकी गर्लफ्रेंड ही उसे रोजाना बाहर की जानकारियां देती है, बाजार भी गर्लफ्रेंड ही जाती थी. आरोपी सैंडो तो अपना मोबाइल छिपा चुका था औऱ एक नए नंबर से कभी कभार सिर्फ वाट्सएप कॉलिंग करता था. पुलिस ने नई तकनीकों को आधार बनाया औऱ आऱोपी के फ्लैट के सामने दस्तक दे दी. अचानक टीम उस फ्लैट पर पहुंची जहां सैंडो ठहरा था. वहां दबिश देकर सैंडो को हिरासत में लिया और सीधे इंदौर ले आए. हालांकि उसकी गर्लफ्रेंड का कोई दोष सामने नहीं आया, इसलिए अभी उसे वहीं छोड़ दिया. यदि जरूरत पड़ी तो उसे भी पूछताछ के लिए लाया जाएगा. 

  • 5/7

आरोपी ने पुलिस के सामने बताया कि वह बांग्लादेशी लड़कियों के स्कैंडल को चलवाने के लिए उन्हें नशा सप्लाई कराता था. वह धीरे-धीरे उन्हें एमडी ड्रग्स भेजता था ताकि वे लत में रहे और फिर स्कैंडल से बाहर नहीं आएं. उन्हें आदी बनाने के लिए यह जहरीला नशा दिया जाता था. वह मुंबई से ही एमडी ड्रग्स लाता था.

शुरूआत में लड़कियों को मुफ्त में नशा देते हैं, लेकिन बाद में इनकी कीमत वसूली जाती है. उसके संपर्क में अभी भी 20 से ज्यादा सेक्स वर्कर हैं. अधिकांश दिल्ली, हरियाणा, पंजाब और विदेश की हैं.

  • 6/7

उधर, इवेंट के बहाने बांग्लादेशी लड़कियों को अपहरण कर इंदौर लाकर रैकेट संचालित करने वाली गैंग के फरार आऱोपी राज को भी गाजियाबाद से पकड़ा है. इस आरोपी की भी दो महीने से तलाश चल रही थी. वहीं, पुलिस ने एक अन्य आरोपी को भी पकड़ा है.   

  • 7/7

डीआईजी हरिनारायण चारी मिश्र ने बताया कि हमने गुंडों और अवैध काम करने वालो के खिलाफ मुहिम छेड़ रखी है. कुछ दिन पहले बड़ा सेक्स रैकेट पकड़ाया था जिसमें दूसरे देशों की लड़कियां शामिल थी. उनके एजेंट और उसका संचालन करने वाले को भी पकड़ा था. अभी तक इस पूरे रैकेट में 5 महिला सहित 25 पुरुष गिरफ्तार हो चुके हैं.

लेटेस्ट फोटो