क्राइम न्यूज़

सास के आरोप को झूठा साबित करने के लिए दहकते अंगारों पर नंगे पांव चली बहू, वीडियो वायरल

पवन शर्मा
  • छिंदवाड़ा,
  • 23 अगस्त 2021,
  • अपडेटेड 10:39 PM IST
  • 1/8

मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा से एक वीडियो वायरल हुआ है, जहां पर एक महिला दहकते अंगारों पर चल रही है. बताया जा रहा है कि महिला को सास के आरोपों को झूठा साबित करने के लिए रामाकोना गांव के तथाकथित बाबा के दरबार में अंगारों पर चलना पड़ा. 

  • 2/8

यह पूरा मामला 17 अगस्त गांव रामकोना का है. यहां पर तथाकथित बाबा दरबार का संचालन करते हैं.  मंगलवार की रात यहां दरबार में बाबा के मानने वाले जुटे थे. यहां बाबा ने कुछ लोगों की अर्जियों पर सुनवाई की. एक ऐसी ही अर्जी की सुनवाई करते हुए बाबा ने मोहखेड़ के मऊ निवासी महिला को बुलाया.

  • 3/8

बाबा ने महिला से सबके सामने कहा कि इस औरत पर कलंक है. इसने अपने पति को कुछ खिला पिलाकर वश में कर लिया है. अगर ये औरत गलत है तो आग में खाक हो जाएगी. बाबा के दिशा-निर्देश के बाद खुद को सच्चा साबित करने महिला अग्नि परीक्षा देने के लिए तैयार हुई और नंगे पांव अंगारों पर चलकर दूसरी तरफ निकल गई. 

  • 4/8

वीडियो में दिखाई दे रहा है कि महिला अंगारों पर चलने से पहले अपने पैर धोती है. फिर सबके सामने खुद को सही साबित करने के लिए नंगे पैर दो बार धधकते अंगारों पर चलती है. बताया जा रहा है कि महिला की सास ने बाबा के पास अर्जी लगाई थी कि उसकी बहू ने उसके बेटे को कुछ खिला पिलाकर अपने वश में कर रखा है. 

  • 5/8

इस घटना के बाद अंगारों पर चली महिला ने बताया कि पारिवारिक विवाद होता था. वो खुद अपनी मर्जी से बाबा के दरबार गई थी और अपनी ही मर्जी से अंगारों पर चली. इस दौरान उसका पति भी वहां पर मौजूद था. 

  • 6/8

पत्नी के अंगारों पर नंगे पैर चलने पर उसके पति का कहना है कि उनके परिवार में भ्रम फैला हुआ था कि मेरी पत्नी ने यहां पर कुछ गड़बड़ की हुई है. लेकिन मेरी मां को विश्वास हो गया है कि उसने ऐसा कुछ नहीं किया. 
 

  • 7/8

वहीं वीडियो के वायरल होने के बाद पुलिस हरकत में आई और मामले की जांच में जुट गई. अंगारों पर चलने वाली महिला से भी पुलिस ने पूछताछ की. जिसमें उसने बताया कि वो अपनी मर्जी से इन अंगारों पर चली थी. 

  • 8/8

तर्कशील विचार समिति और अखिल भारतीय अंधश्रद्धा निर्मूलन समिति ने इस घटना के वीडियो की पड़ताल के बाद इसे समाज में अंधविश्वास फैलाने वाली घटना बताते हुए पुलिस प्रशासन से कथित बाबा पर कार्रवाई की मांग की है.